Breaking News

ATM का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों के लिए आई बुरी खबर, ट्रांसएक्शन करने के नियम में होगा बदलाव

बैंकों के एटीएम से तय मुफ्त सीमा से अधिक बार पैसा निकालने पर अगले साल से ज्यादा शुल्क देना होगा। भारतीय रिजर्व बैंक RBI) ने गुरुवार को बैंकों को अगले साल से एटीएम के जरिये निर्धारित मुफ्त मासिक सीमा से अधिक बार नकदी निकालने या अन्य लेन-देन करने को लेकर शुल्क बढ़ाने की अनुमति दे दी है।

आरबीआई ने एक सर्कुलर में कहा कि बैंकों को हाई इंटरचेंज शुल्क के लिए क्षतिपूर्ति करने और लागत में सामान्य वृद्धि को देखते हुए, उन्हें ग्राहक शुल्क को प्रति लेनदेन 21 रुपये तक बढ़ाने की अनुमति है.

यह वृद्धि 1 जनवरी, 2022 से प्रभावी होगी.” हालांकि, ग्राहक अपने बैंक एटीएम से हर महीने पांच मुफ्त लेनदेन (फाइनेंशियल और नॉन-फाइनेंशियल लेनदेन सहित) के लिए पात्र बने रहेंगे.वे मेट्रो सेंटर्स में अन्य बैंक के एटीएम से तीन और गैर-मेट्रो सेंटर्स में पांच मुफ्त लेनदेन भी कर सकेंगे.

भारत में पहला एटीएम 1987 में मुंबई में एचएसबीसी द्वारा स्‍थापित किया गया था। इसके बाद के 12 वर्षों में लगभग 1500 एटीएम की स्‍थापना की गई। 1997 में इंडियन बैंक एसोसिएशन ने सावधान की स्‍थापना की, जो पहला साझा एटीएम का नेटवर्क था, जो इंटरऑपरेबल ट्रांजैक्‍शन की अनुमति देता है।

About News Room lko

Check Also

Okinawa अपने ग्राहकों को दे रहा हैं मेगा ऑफर, इलेक्ट्रिक स्कूटर की खरीद पर पाएं वॉशिंग मशीन और स्मार्ट TV बिलकुल मुफ्त!

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Okinawa अपने ग्राहकों के लिए इस जून महीने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *