Breaking News

Mary Kom : कुछ खास है ये खिलाड़ी

पांच बार की विश्वविजेता Mary Kom ने फिर एक बार फिर वो कारनामा कर दिखाया है जो अभी तक भारत के हाथों से कही दूर था। विश्वविजेता मैरीकॉम मुक्केबाजी स्‍पर्धा में स्‍वर्ण पदक हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं। इसी के साथ उनके करियर में एक और महत्वपूर्ण पदक का सम्मान जुड़ गया।

मुक्केबाजी में पहली स्वर्ण पदक विजेता बनीं Mary Kom

भारत की तरफ से मुक्केबाजी में एम सी मैरीकॉम ने स्वर्ण पदक जीत देश के लिए एक और महत्वपूर्ण मेडल दिलाया। मैरीकॉम कॉमनवेल्‍थ में बॉक्‍सिंग में स्‍वर्ण पदक हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं। कॉमनवेल्थ के फाइनल मुकाबले में मैरी कॉम ने 45-48 किलोग्राम भारवर्ग स्‍पर्धा में इंग्‍लैंड की क्रिस्‍टिना ओ हारा को 5-0 से हराया।

कठिन संघर्षों से पाया विजय

मैरीकॉम का जीवन काफी कठिनाइयों से भरा हुआ रहा। उनका जन्म मणिपुर की एक गरीब परिवार में हुआ। इनके लिए बॉक्सिंग के क्षेत्र में करियर बनाना आसान न रहा ,ख़ासकर एक महिला के तौर पर और भी कठिन हो गया। लेकिन तमाम मुसीबतों से लड़ती हुई मैरीकॉम ने एक अलग ही उपलब्धि हासिल की। मैरीकॉम पर एक फिल्‍म भी बनी है जिसमें लीड एक्‍टर प्रियंका चोपड़ा हैं। फिल्‍म देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आखिर मैरीकॉम ने किन मुश्‍किलों का सामना कर अपने लिए नया रास्‍ता चुना।

मैरीकॉम ने 2005 में करुन ओंखोलर के साथ शादी कर ली। उनके 3 बच्चे हैं और अपनी प्रेग्नेंसी के दौरान मैरीकॉम लम्बे समय तक बॉक्सिंग से दूर रही किन्तु समय के साथ और अपने लगन के दम पर उन्होंने दुबारा बॉक्सिंग के रिंग में कदम रखा और नई-नई ऊचाईयां छू रही हैं।

राज्यसभा सांसद हैं मैरीकॉम

मैरीकॉम को राष्ट्रपति द्वारा 2016 में राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया और तब से मैरीकॉम राज्यसभा सांसद भी हैं। इसके आलावा इन्हे 2003 में खेल के सबसे बड़े पुरस्‍कार अर्जुन अवार्ड, 2006 में पद्मश्री तथा 2013 में पद्मभूषण से सम्मानित किया गया।

Loading...
जीत पर राष्ट्रपति ने दी बधाई

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रमंडल खेलों के मुक्केबाजी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने पर भारत की मुक्केबाज व पांच बार की विश्व चैम्पियन एम सी मैरीकॉम को बधाई दी।
राष्ट्रपति ने ट्विटर पर दिए अपने बधाई संदेश में कहा, ‘राष्ट्रमंडल खेलों में महिलाओं के 45-48 किग्रा मुक्केबाजी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने के लिए मणिपुर और भारत की आइकन मैरी कॉम को बधाई।’

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

11 वर्षीय छात्र ने किया कमाल, बना डाली हवा से चलने वाली बाइक

देहरादून में एक छठवीं कक्षा के छात्र ने ऐसा काम कर दिखाया है जिसकी सोशल ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *