Breaking News

जी-20: 2023 में भारत में आयोजित होगा शिखर सम्मलेन, जयशंकर ने चीन के विदेश मंत्री समेत कई देशों के प्रतिनिधियों से की मुलाक़ात

नई दिल्ली: इंडोनेशिया के बाली में आयोजित जी-20 की विदेश मंत्रियों की बैठक के पहले दिन भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने चीनी समकक्ष वांग यी से समेत बैठक में शामिल कई मुल्कों के विदेश मंत्रियों से मुलाक़ात की। जयशंकर ने वांग यी के साथ बातचीत में सीमा के हालात, चीन में भारतीय विद्यार्थियों और नागरिक उड़ानों पर पाबंदियों को लेकर विस्तृत चर्चा की।

जी-20: 2023 में भारत में आयोजित होगा शिखर सम्मलेन

जी-20: जयशंकर ने चीन के विदेश मंत्री समेत कई देशों के प्रतिनिधियों से की मुलाक़ात

जयशंकर ने ट्वीट कर बताया बाली में आज दिन की शुरुआत चीन के विदेश मंत्री वांग यी से मुलकात के साथ की। करीब एक घंटे चर्चा चली। इसमें सीमा के हालात समेत सभी लंबित मुद्दों पर चर्चा हुई। मैंने अन्य मसलों के अलावा विद्यार्थियों और उड़ानों के मसले को भी उठाया। अंतरराष्ट्रीय हालात और जी-20 बैठक पर उसके प्रभाव की भी चर्चा की।

जयशंकर ने चीन के विदेश मंत्री समेत कई देशों के प्रतिनिधियों से की मुलाक़ात

चीनी समकक्ष के साथ सीमा के हालात और भारतीय छात्रों से जुड़े मुद्दों पर की बातचीत

बैठक के पहले दिन विदेश मंत्री जयशंकर ने मेक्सिको के विदेश मंत्री से मुलाक़ात की। इस दौरान दोनों के नेताओं के बीच अंतरिक्ष, कृषि फार्मास्युटिकल और इनोवेशन से जुड़ों पर मसलों पर बातचीत हुई। जयशंकर ने मेक्सिको के साथ व्यापारिक संबंधों का स्वागत करते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच बहुपक्षीय मंचों आपसी समन्वय पहले से और मजबूत हुआ है।
इसके अलावा एसo जयशंकर ने अर्जेंटीना और साउथ अफ्रीका के विदेश मंत्रियों से भी मुलाक़ात की।

वहीं सेनेगल की विदेश मंत्री ने जयशंकर के साथ मुलाक़ात कर विषम परिस्थितियों में भारत द्वारा उपलब्ध कराये गए कोरोना के टीकों और विकास परियोजनाओं के लिए भारत सरकार के प्रति आभार जताया। इस दौरान जयशंकर ने भी सेनेगल के साथ कृषि, चिकित्सा, रेलवे और पॉवर जैसे क्षेत्रों में उनका सहयोग करने की प्रतिबद्धता जताई।

बैठक के दौरान भारतीय प्रतिनिधि ने इंडोनेशिया की विदेश मंत्री रेत्नो मर्सुदी से मुलाक़ात कर बाली में आयोजित जी-20 बैठक की उत्कृष्ट व्यवस्थाओं की सराहना की। वहीं, जी-20 बैठक के इतर विदेश मंत्री जयशंकर ने फिजी के प्रधानमंत्री से मुलाक़ात कर विकास परियोजनाओं के साथ आपसी सहयोग को बढ़ावा देने जैसे विषयों पर चर्चा की।

आपको बताते चलें कि भारत एक दिसंबर 2022 से जी-20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता करने वाला है। वहीं, वर्ष 2023 में भारत में पहली बार जी-20 शिखर सम्मलेन का आयोजन किया जाना है। जिसकी बैठकें जम्मू कश्मीर, लद्दाख समेत देश के कई राज्यों में आयोजित की जानी है।

(रिपोर्ट: शाश्वत तिवारी)

 

About reporter

Check Also

सियाचिन में शहीद हुए चन्द्रशेखर हर्बोला का पार्थिव शरीर कल पहुंचेगा हल्द्वानी, 38 साल पहले हुए थे शहीद

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें 38 साल पहले सियाचिन में शहीद हुए उत्तराखंड ...