ज्ञानवापी केस: आदि विश्वेश्वर के नियमित पूजन को लेकर वाराणसी की अदालत में सुनवाई आज

श्रृंगार गौरी दर्शन मामले में मचे बवाल के बाद एक और याचिका आदि विश्वेश्वर के नियमित पूजन को लेकर वाराणसी की अदालत में दी गई है।फास्ट ट्रैक कोर्ट में एडवोकेट कमीशन सर्वे के दौरान मिले शिवलिंग की आकृति आदिविशेश्वर की तत्काल प्रभाव से प्रतिदिन पूजा प्रारंभ कराने की मांग को लेकर याचिका दाखिल की गई है.

जून महीने के आखिरी हफ़्तों में कमीशन की कार्यवाही में ज्ञानवापी के वजू खाने में शिवलिंग मिलने की बात सामने आयी थी। इस कथित शिवलिंग मिलने के बाद उसे आदिविश्वेश्वर भगवान विराजमान मान कर किरण सिंह व अन्य ने राज्य सरकार व अन्य को पार्टी बना कर पूजन के अधिकार की मांग सम्बन्धी याचिका दी।

रवि कुमार दिवाकर ही वो जज थे जिन्होने श्रृंगार गौरी नियमित दर्शन मामले में ज्ञानवापी मस्जिद के कमीशन का आदेश दिया था साथ ही दावे वाले शिवलिंग की जगह को सील करने का भी आदेश दिया था। विश्व वैदिक सनातन संघ के महासचिव और आदिविशेश्वर की वाद मित्र किरण सिंह, वादी विकास साह और विद्याचंद ने मई में सिविल जज सीनियर डिविजन रवि कुमार दिवाकर की अदालत में कुल 77 पेज और 122 पैरा की याचिका दायर की थी.

याचिका कर्ता किरण सिंह विश्व वैदिक सनातन संघ के अध्यक्ष जितेंद्र सिंह बिसेन की पत्नी हैं । ये वही संस्था है जिसने राखी सिंह व अन्य महिलाओ से श्रृंगार गौरी व अन्य विग्रहो के दर्शन पूजन का अधिकार अदालत से मांगा था।

About News Room lko

Check Also

हर घर तिरेंगे के प्रचार के लिए लगे पोस्टरों से मुख्यमंत्री का फोटो काटा गया,एफआईआर दर्ज

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें फिरोजाबाद में असामाजिक तत्वों की शहर की फिजां ...