बांग्लादेश में हिंदुओं पर हमला, भीड़ ने जलाएं 10 से ज्यादा घर, तनाव

बांग्लादेश में एक बार फिर अल्पसंख्यक हिंदुओं पर अत्याचार का मामला सामने आया है. यहां पर कट्टरपंथी इस्लामवादियों के एक समूह ने कोमिला जिले में मुरादनगर उपजिला के तहत आने वाले कोरबनपुर गांव में 10 से अधिक हिंदू परिवारों पर हमला किया है.

रिपोर्टों के अनुसार, हिंदू परिवारों के घरों में तोडफ़ोड़ की गई और बाद में उनमें आग लगा दी गई. एक व्यक्ति ने फ्रांस के साथ एकजुटता दिखाने और फेसबुक टिप्पणियों में चार्ली हेब्दो कार्टून पर कुछ टिप्पणी की थी. व्यक्ति की पहचान शंकर देबनाथ के रूप में की गई है. भीड़ ने स्थानीय संघ परिषद के अध्यक्ष बनकुमार शिव के आफिस और घर को भी आग के हवाले कर दिया, इसके साथ ही उस क्षेत्र के अन्य हिंदू परिवारों के घरों को भी जला दिया.

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. जिसमें हिंसक भीड़ को टोपी पहने और लाठी, रॉड और पत्थर बरसाते हुए हिंदू परिवारों के घरों में तोडफ़ोड़ करते देखे जा सकते हैं. ट्विटर उपयोगकर्ता जॉय चक्रवर्ती ने दावा किया है कि पुलिस ने आगजनी करने वालों और उत्पातियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है, बल्कि फेसबुक पर टिप्पणियों के कारण दो हिंदुओं को जेल में डाल दिया है. उन्होंने कहा कि यह घटना करीब 5 घंटे तक चली. शंकर और अनिक भौमिक नाम के एक अन्य व्यक्ति को धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

Loading...

पुलिस ने नहीं की कोई कार्रवाई

आग बुझाने के लिए अग्निशमन विभाग को बुलाया गया. घटना की जानकारी मिलने पर बंगरा पुलिस, एसपी सैयद नुरुल इस्लाम, डीसी अबुल फजल मीर और अन्य उच्च पदस्थ अधिकारियों ने घटना स्थल का दौरा किया. एएसपी अजीमुल अहसन ने कहा, कोरबनपुर गांव के स्थानीय लोगों के एक समूह ने स्थानीय संघ परिषद के अध्यक्ष बनकुमार शिव, शंकर देबनाथ के घर पर धावा बोला और रविवार दोपहर को कई अन्य हिंदू परिवारों के साथ भी बर्बरता की. हमने इलाके में अतिरिक्त बल तैनात किया है. ताकि कानून और व्यवस्था बनाए रखें.

ईश निंदा के लिए हिंदू लड़की लापता

25 अक्टूबर को बांग्लादेश में ढाका में जगन्नाथ विश्वविद्यालय से तीसरे वर्ष के एक ज्योलॉजी की छात्र तिथी सरकार, इस्लाम और पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक टिप्पणी करने के बाद गायब हो गई. उसे पहले धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए 23 अक्टूबर को उसके विश्वविद्यालय से निलंबित कर दिया गया था.

ढाका ट्रिब्यून ने उसके माता-पिता के हवाले से कहा है कि जब से वह लापता हुई है, उसका फोन भी स्विच ऑफ हो गया है और वह पूरी तरह से अनट्रेस है. उन्होंने पुलिस को यह बताया है कि आपत्तिजनक टिप्पणी किसी अज्ञात हैकर ने उसके खाते का उपयोग करके की थी.

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

पॉलिसी दरों पर RBI का फैसला, RTGS को 24x7x365 उपलब्ध कराने का किया ऐलान- सस्ती EMI के लिए अभी करना होगा इंतजार

आरबीआई एमपीसी की तीन दिन से जारी बैठक आज समाप्त हो गई है। बैठक में ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *