Breaking News

दुनिया भर के तम्बाकू उपयोगकर्ताओं की दूसरी सबसे बड़ी संख्या 268 मिलियन भारत में

भारत सरकार ने 31 मई को ओटीटी प्लेटफार्म पर तंबाकू इमेजरी को विनियमित करने वाली एक अधिसूचना जारी की। इस अग्रणी कदम के साथ भारत मनोरंजन के माध्यम से तंबाकू प्रचार को विनियमित करने में विश्व चैंपियन बन गया। देश भर के नागरिक समाज संगठनों, डॉक्टरों, युवाओं, शिक्षकों और अभिभावकों ने ओटीटी प्लेटफार्म को विनियमित करने के इस निर्णय का स्वागत किया। ओटीटी प्लेटफार्म पर स्ट्रीम होने वाली सारी सामग्री (फिल्में, सीरियल डॉक्यूमेंट्री आदि) में तंबाकू उत्पादों या उनके उपयोग को प्रदर्शित करते हुए, स्क्रीन के नीचे एक स्थिर संदेश के रूप में तंबाकू विरोधी स्वास्थ्य स्पॉट/विज्ञापन, तंबाकू विरोधी स्वास्थ्य चेतावनी प्रदर्शित की जाएगी। तम्बाकू उत्पादों या उनके उपयोग के प्रदर्शन की अवधि के दौरान (तम्बाकू कैंसर का कारण बनता है या तम्बाकू जान लेता है) और तम्बाकू के उपयोग के दुष्प्रभावों पर एक ऑडियो-विजुअल अस्वीकरण भी दिखाया जाएगा।

👉ग्रेटर नोयडा में यूपी के पहले इंटरनेशनल ट्रेड शो का आकर्षण बना “हर घर जल” गांव

नियम के तहत सिगरेट या अन्य तंबाकू उत्पादों के ब्रांड का प्रदर्शन या किसी भी प्रकार के तंबाकू उत्पाद का प्लेसमेंट या तंबाकू उत्पादों का प्रदर्शन या प्रचार सामग्री में उनका उपयोग प्रतिबंधित हैं। नियम एक सितंबर 2023 से लागू हुए। तंबाकू के चित्रण वाले दृश्य दिखाने के दौरान चेतावनी प्रदर्शित करना अनिवार्य करने वाली भारत सरकार की एक अधिसूचना का अनुपालन करते हुए कुछ ओटीटी प्लेटफार्म ने बड़ा कदम उठाया है। जियो, अमेजन, ज़ी 5, डिज्नी हॉटस्टार, वूट और नेटफ्लिक्स जैसे कुछ ओटीटी प्लेटफॉर्म अब तंबाकू के उपयोग के दौरान स्वास्थ्य चेतावनियां और अस्वीकरण प्रदर्शित कर रहे हैं।

दुनिया भर के तम्बाकू उपयोगकर्ताओं की दूसरी सबसे बड़ी संख्या 268 मिलियन भारत में

वॉलंटरी हेल्थ एसोसिएशन ऑफ इंडिया के बिनॉय मैथ्यू ने कहा यह देखना उत्साहजनक है कि कुछ ओटीटी प्लेटफार्म ने स्वास्थ्य चेतावनी के साथ सामग्री स्ट्रीम करने की पहल की है। यह स्पष्ट रूप से संकेत देता है कि यह व्यावहारिक और संभव है, सभी स्ट्रीमिंग प्लेटफार्म को इसका पालन करना चाहिए।

भारत युवाओं को तम्बाकू के उपयोग से बचाने में लंबे समय से वैश्विक स्तर पर अग्रणी और प्रर्वतक रहा है, विशेष रूप से फिल्मों में तम्बाकू के उपयोग को ग्लैमराइज़ करने वाली छवियों को कम करने में।

वर्तमान कानूनों (2 अक्तूबर 2012 को घोषित) के तहत, नाटकीय फिल्में, साथ ही टीवी पर प्रसारित फिल्में या शो, जिनमें तंबाकू के उपयोग का चित्रण है, को फिल्म या कार्यक्रम के आरंभ और मध्य में तथा तंबाकू के उपयोग की पूरी अवधि के दौरान इस नुकसान के बारे में स्वास्थ्य चेतावनी प्रदर्शित करनी चाहिए। मौजूदा कानून फिल्मों और टीवी कार्यक्रमों में किसी भी प्रकार के तंबाकू उत्पाद के प्लेसमेंट पर भी प्रतिबंध लगाते हैं।

👉पीएम मोदी का शुक्रवार को भाजपा कार्यालय में महिला सांसद और कार्यकर्ता करेंगी स्वागत

इन नियमों को फिल्मों और टेलीविजन में उचित रूप से लागू किया जा रहा था, हालांकि, ओटीटी प्लेटफॉर्म काफी हद तक अनियमित रहे। यह एक गंभीर चिंता का विषय बन गया जब स्ट्रीमिंग प्लेटफ़ॉर्म की लोकप्रियता, विशेष रूप से किशोरों के बीच बढ़ गई। ऐसा कोविड -19 के परिणाम स्वरूप किये गये लॉकडाउन के दौरान, तेजी से हुआ। ओटीटी प्लेटफार्म पर तंबाकू की छवि का बड़े पैमाने पर चित्रण किया गया था, जिसमें स्कूल ड्रेस में किशोरों को खुले तौर पर धूम्रपान करते हुए दिखाया गया था और उत्पाद प्लेसमेंट स्पष्ट था, जो भारत के तंबाकू नियंत्रण कानून और उसके इरादे पर सवाल उठाता था।

बच्चे और युवा अपना ज्यादा समय ऑनलाइन बिता रहे हैं और मनोरंजन के लिए ओटीटी प्लेटफॉर्म चलन में हैं। वे ओटीटी प्लेटफार्म पर प्रदर्शित फिल्मों, सीरियल और लघु फिल्मों में दिखाए जाने वाले तंबाकू सेवन से प्रभावित हो रहे हैं क्योंकि वर्तमान में तंबाकू उपभोग प्रदर्शन के संबंध में ओटीटी प्लेटफार्म पर कोई नियम नहीं लगाए गए हैं। इस दौर में जहां ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर निर्भरता बढ़ी है, वहीं युवा मन विभिन्न ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अलग-अलग भूमिकाओं के पात्रों द्वारा खुलेआम तंबाकू सेवन के ऐसे खतरनाक चित्रण की ओर आकर्षित हो रहे हैं।

👉काशी में अर्ध चंद्राकार स्टेडियम के अनोखे वास्तुशिल्प में डमरू, बेलपत्र और त्रिशूल की दिखेगी झलक

भारत में दुनिया भर के तम्बाकू उपयोगकर्ताओं की दूसरी सबसे बड़ी संख्या (268 मिलियन) है। भारत में लगभग 27% कैंसर तम्बाकू के कारण होते हैं। हालिया ग्लोबल यूथ टोबैको सर्वे (जीवाईटीएस-2019) से पता चलता है कि 13-15 वर्ष की आयु के लगभग पांचवें छात्र किसी न किसी रूप में तंबाकू का सेवन कर रहे हैं। इसके अलावा, भारत में औसतन 10 साल से कम उम्र के बच्चे तंबाकू का सेवन शुरू कर देते हैं।

About Samar Saleel

Check Also

भारत सरकार के ‘इन्स्पायर-मानक अवार्ड’ से सम्मानित हुए सीएमएस के तीन छात्र

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजेन्द्र नगर प्रथम कैम्पस के तीन मेधावी छात्रों दिव्यांश अग्रवाल, सूरज ...