Breaking News

सांस की परेशानी से पीड़ित लोगों के लिए किसी औषधि से कम नहीं हैं गुड और चना

कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए गुड और चना खाया जाता है। लेकिन इसके अलावा गुड़ और चना एनीमिया रोग दूर करने में काफी मददगार साबित होता है.रक्त में हीमोग्लोबिन की कमी से होने वाला एनीमिया रोग ज्यादातर महिलाओं में देखने को मिलता है.

खास तौर से आयरन की कमी के कारण यह समस्या सामने आती है, जिसमें थकान और कमजोरी महसूस होना आम बात है. ऐसे में महिलाओं को अपनी डाइट में iron से भरपूर चीजें लेने की सलाह दी जाती है ताकि हीमोग्लोबिन का स्तर कम न हो.

गुड़ और चना अन्य फूड की तरह जब एक साथ मिल जाते हैं तो सुपर फूड कहलाते हैं. दोनों फूड का मिश्रण विटामिन और मिनरल से भरपूर होता है. चना प्रोटीन का खजाना माना जाता है और गुड़ से एंटी ऑक्सीडेंट्स काफी मिलता है.

इसके अलावा, गुड़ में जिंक, सेलेनियम और चना में मिनरल जैसे बी6, फोलेट, मैग्नीज, फॉसफोरस, आयरन, कॉपर, थायमिन, नियासिन और राइबोफ्लेविन पाया जाता है. फूड का एक साथ खाना भारतीय डाइट का लंबे वर्षों से हिस्सा रहा है. गुड़ और भुना चना का सेवन कई तरह से स्वास्थ्य के लिए मुफीद होता है.

गुड़ और भुना चना दोनों में जिंक पाया जाता है. जिंक ऐसा मिनरल है जो शरीर में 300 एंजाइमों को सक्रिय कर इम्यूनिटी बढ़ाता है. गुड़ और चना का इस्तेमाल सांस की परेशानी से पीड़ित लोगों के लिए बेहतर होता है. उन्हें सिर्फ भुना चना, गुड़ और दूध के साथ रात में सोने से पहले खा लेना चाहिए.

About News Room lko

Check Also

इस फेशियल ऑयल की कुछ बूंदें अपने चेहरे पर लगाकर मसाज करने से बढ़ेगी त्वचा की रंगत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें ग्लोइंग और निखरी त्वचा के लिए महिलाएं फेशियल ...