Breaking News

जश्ने आजादी के मौके पर जमीयत उल हिन्द ने निकाली तिरंगा रैली

फिरोजाबाद। आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर जमीअत उलमा हिंद फिरोजाबाद की तरफ से एक विशाल ऐतिहासिक तिरंगा यात्रा का नगर में आयोजन किया गया।

तिरंगा रैली का नेतृत्व कर रहे संरक्षक धर्मगुरु व इमाम ईदगाह मौलाना शफी साहब. हिंदू धर्म गुरु मुन्ना लाल शास्त्री साहब. ज़िला अध्यक्ष मुफ्ती तनवीर अहमद साहब ज़िला महा सचिव मुफ्ती कासिम रजी साहब. महानगर अध्यक्ष जमीयत मौलाना अमीन अख्तर साहब. कारी नईमुद्दीन महासचिव ने किया।

आज जमीअत उलमा हिंद फिरोजाबाद के अहवान पर हजारों की तादाद में मदरसों के बच्चों के द्वारा तिरंगा रैली की शुरुआत मोहल्ला हुसैनी के ग्राउंड से नवनियुक्त एसपी सिटी सर्वेश कुमार मिश्रा, सीओ सिटी अभिषेक श्रीवास्तव ने थान रसूलपुर इंस्पेक्टर कमलेश सिंह ने हरी झंडी दिखा दिखाकर रवाना किया। तिरंगा रैली मोहल्ला हुसैनी से प्रारंभ होकर भाटिया चौराहा दुली मोहल्ला डाकखाना बरअफ खाना जलेसर रोड सदर बाजार सेंट्रल चौराहा शास्त्री मार्केट जामा मस्जिद घंटाघर इमामबाड़ा चौराहा नाल बंद चौराहा डॉक्टर नवेद चौराहे से हाजीपुरा आगा साहब मस्जिद गुदड़ी होते हुए वापस हुसैनी मोहल्ला ग्राउंड में तिरंगा रैली की समाप्ति थाना रसूलपुर इंस्पेक्टर कमलेश सिंह एसएसआई साउन अली ने समापन किया।

रैली में आगे की पंक्ति में जमीअत उलमा हिंद के पदाधिकारी व धर्म गुरु साथ चल रहे थे छोटी मेटाडोर में लाउडस्पीकर साथ चल रहे थे जिसमें राष्ट्रीय धुन राष्ट्रीय गीत बजाया जा रहा था और माइक पर यह नारे लगाए जा रहे थे हिंदुस्तान जिंदाबाद, सारे जहां से अच्छा हिंदुस्ता हमारा। रैली में मुख्य रूप से मौलाना शफी, पंडित मुन्ना लाल शास्त्री, अखिलेश शर्मा,  मौलाना फारुख, मुफ्ती तनवीर, मुफ्ती कासिम रजी, मौलाना अमीन मौलाना अकरम मुस्तफा, कारी नईम सिद्दीकी, मुफ्ती ताहिर मुफ्ती, हुजैफा, मौलाना अब्दुल बासित, मौलाना शाहिद मौलाना हनीफ, मौलाना इलियास, मौलाना मुजीब, मुफ्ती सोहेल, मोहम्मद खालिद, कारी तालिब, हाफिज जुबेर, मौलाना मोहसिन नदवी, मौलाना अब्दुल अलीम, हाफिज अरबाज, हाफिज नवेद हाफिज, जाहिद मुफ्ती नदीम, करबला कमेटी के अध्यक्ष हिकमत उल्लाह खान आदि उलेमा हजरत व जमीयत के पदाधिकारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट-मयंक शर्मा

About Samar Saleel

Check Also

विजय दशमी का संदेश

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें विजय दशमी का महत्व असत्य और अधर्म प्रवृत्ति ...