Breaking News

पीएम मोदी की डिग्री को लेकर एक बार फिर कोर्ट पहुंचे केजरीवाल, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पीएम नरेंद्र मोदी की डिग्री को लेकर एक बार फिर कोर्ट पहुंचे हैं। केजरीवाल ने गुजरात हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हुए मार्च में दिए गए आदेश पर दोबारा विचार की अपील की है।

मणिपुर हिंसा मामले में एक्शन में CBI, दर्ज किया 6 FIR, फटाफट पढ़े पूरी खबर

पीएम मोदी की डिग्री को लेकर एक बार फिर कोर्ट पहुंचे केजरीवाल

कोर्ट ने गुजरात यूनिवर्सिटी की याचिका को स्वीकार करते हुए केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) के उस आदेश को खारिज कर दिया था जिसमें डिग्री साझा करने को कहा गया था। कोर्ट ने सीआईसी के आदेश को खारिज करने के साथ ही केजरीवाल पर 25 हजार रुपए का जुर्माना भी लगा दिया था। आप संयोजक ने इस पर भी दोबारा विचार करने की अपील की है और अपने तर्क पेश किए हैं।

केजरीवाल ने अपनी याचिका में कहा है कि विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट पर ‘डिग्री’ के प्रदर्शन को अदालत के पुराने देश की समीक्षा के लिए मुख्य आधार के रूप में लिया गया है। उन्होंने यह भी कहा है कि मेहता ने उस दिन मौखिक रूप से पहली बार कहा था कि डिग्री वेबसाइट पर उपलब्ध है। केजरीवाल ने कहा है कि उनके पास इसे सत्यापित करने का मौका नहीं था और ओआर को डिग्री नहीं माना जा सकता है जैसा कि यूनिवर्सिटी ने दावा किया है।

जस्टिस बीरने वैष्णव ने शुक्रवार को अरविंद केजरीवाल की याचिका को सुनवाई के लिए स्वीकार किया। गुजरात यूनिवर्सिटी, केंद्र सरकार, सीआईसी और पूर्व सीआईसी कमिश्नर एम श्रीधर आचार्यलू को नोटिस जारी किया। मामले की अगली सुनवाई 30 जून को हो सकती है।

केजरीवाल ने कहा है कि तब यूनिवर्सिटी की ओर से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया तुषार मेहतता ने कहा था कि पीएम मोदी की डिग्री यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर उपलब्ध है। उन्होंने कहा, ‘वेबसाइट को देखने के बाद पता चला कि ‘डिग्री’ वहां उपलब्ध नहीं है, बल्कि एक OR (ऑफिस रजिस्टर) को प्रदर्शित किया गया है।’ दिल्ली सीएम की ओर से यह भी कहा गया है कि इस पर कोई मुहर या हस्ताक्षर नहीं है। इसका सत्यापन असंभव है।

About News Room lko

Check Also

पर्यावरण संरक्षा जागरूकता के लिए बस्ती स्टेशन पर रेल कर्मियों ने बोर्ड एवं बैनर के माध्यम से यात्रियों को किया जागरूक

लखनऊ। पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल में मिशन लाइफ के तहत पर्यावरण को अनुकूल करने हेतु ...