Breaking News

“महफिल-ए-मुलाक़ात” लखनऊ यूनिवर्सिटी एलुमनाई मीट 2022

लखनऊ विश्वविद्यालय परिवार के अनौपचारिक वार्षिक मिलन के इस भव्य आयोजन को “महफिल-ए-मुलाक़ात” का नाम दिया गया और ये महफ़िल उस समय और यादगार बन गई, जब कुछ ऐसे साथी मिले, जीने बिछड़े कई दशक हो चुके थे। निश्चित तौर से होटल पारस इन में इस आयोजन में बड़ी संख्या में शामिल हुए पूर्व स्टूडेंट रहे साथियों के जीवन में ये यादगार शाम एक सुनहरा किस्सा बं कर जुड़ गई।

वो हुल्लड़, वो हंगामा,
वो चुनाव में नारे लगाना,
वो दिन, वो रात, वो यारो का साथ,
आज भी वो गुजरा मंजर, याद है मुझको, जैसे बात हो कल की।
@शाश्वत तिवारी

इस आयोजन को कामयाब बनाने के लिए प्रमोद तिवारी, दयाशंकर सिह, डा. वीएन मिश्रा, मुकेश शुक्ला तन-मन-धन से जुटे रहे। शरफ अब्बास के प्रबंधन का ही कमाल था कि आयोजन में आई तमाम अड़चनें पल भर में छूमंतर हो गईं। सबको रिश्तों की मजबूत डोर में पिरोने वाले अनिल सिंह ‘वीरू’ ने इस दफे भी अपना किरदार बखूबी निभाया। हर खास-ओ-आम से पलक झपकते ही आत्मीय रिश्ता कायम कर लेने वाले पवन उपाध्याय की सम्मोहनी कला से इस बार भी कोई नहीं बच पाया।

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना का आम छात्र के मानिंद काउंटर पर पहुंचकर रजिस्ट्रेशन कराना हर किसी के मन को छू गया। डाo दिनेश शर्मा, वीरेन्द्र तिवारी, सत्यदेव त्रिपाठी एवं कुंवर मानवेन्द्र सिंह सरीखे वरिष्ठों की गरिमामयी उपस्थिति रही।

जेबी सिंह(पूर्व आईएएस), आशुतोष शुक्ला (राज्य संपादक दैनिक जागरण), रामचंद्र प्रधान(एमएलसी) का मार्गदर्शऩ इस आयोजन का पथ प्रशस्त करता रहा। पत्रकार अखंड शाही की ओजस्वी रचनाधर्मिता का कौशल विश्वविद्यालय की डाक्यूमेंट्री में देख हर कोई मुरीद हो गया। मुकेश पाण्डेय (ज्वाइंट कमिश्नर, जीएसटी) की सुरमई प्रस्तुति ने सबके मन झंकृत कर दिए, कुछ साथी पुरानी यादों में गुमहोकर भावुक हो गए।

प्रदीप मिश्रा(एडीजी), केके पाण्डेय(स्टैंडिग काउंसल, भारत सरकार), योगेश तिवारी, आनंद मोहन मिश्रा, सौरभ सिंह बजरंगी, देशदीपक सिंह, मंगला तिवारी, प्रेम पाण्डेय, शुभम, विवेक राय की वजह से व्यवस्थाएं निर्बाधित संचालित रहीं। धर्मेन्द्र सिंह (रीजनल एडीटर आईऩेक्सट), विवेक सक्सेना (आईयफएस, हरियाणा कैडर), शाहाब रशीद खान (आईपीएस), विजय भूषण(पूर्व आईपीएस), डाo विजय शर्मा(पूर्व सूचना आयुक्त), विजय सिंह (परिवहन अधिकारी), शिखर ओझा (परिवहन अधिकारी) , अरुण पाण्डे(डिप्टी कमिश्नर, जीएसटी), समीर सौरभ (एएसपी), अवनीश्वर श्रीवास्तव (डीएसपी, एसटीएफ), सुशील तिवारी (आईआईएएस), वितुल वैश्य (एसडीई, बीएसएनएल), संजीव शर्मा(रीजनल हेड, पतंजलि), जिला आबकारी अधिकारी संजय त्रिपाठी, सुशील मिश्रा,भाई अखिलेश जी (आरएसएस, कानपुर प्रांत) तन्मयता से आयोजन का हिस्सा बने।

प्रो. निशि पाण्डेय, रंजना अग्निहोत्री, संध्या दुबे, डा. अनिता बाजपेई, डा. मंजुला उपाध्याय, डा. नेहा श्रीवास्तव, एडवोकेट शशि पाठक ने अपनी प्रोफेशनल व्यवस्ताओं के बावजूद वक्त निकालकर कार्यक्रम मे हिस्सा लेकर आधी आबादी की नुमाईंदगी दर्ज की।
अरविन्द मोहन मिश्रा, अंकित त्रिवेदी, आशीष गांधी, अभिषेक पाण्डेय लकी, हिमांशु पुरी, देवेन्द्र सिंह देबू लंबी दूरी तय करके आयोजन में शामिल हुए। एमएससी (मैथ्स) के सहपाठी शिवेन्द्र द्विवेदी, ब्रजबिहारी श्रीवास्तव, अखिलेश त्रिपाठी, प्रशांत राय,अमरेश श्रीवास्तव, आरएस दुबे का साथ अविस्मरणीय रहा।

प्रोफेसर एमपी सिंह, प्रोफेसर सीपी सिंह, रमेश श्रीवास्तव,राकेश सिंह(पूर्व एमएलसी), पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी, नीरज पांडे, अवधेश यादव, राजेश विद्यार्थी, प्रदीप सिंह बब्बू, प्रेम प्रकाश अग्निहोत्री “पंचम” योगेश तिवारी, सुभाष चंद्र मौर्य, चारुमिश्रा, उदयसिंह, संजीव सिंह चौहान, यज्ञदत्त सिंह चौहान, मोहम्मद यूसूफ, विवेकानंद त्रिपाठी, महफूज भईया,आलोक सिंह, एडवोकेट राम उग्रह शुक्ला, एडवोकेट ज्ञान तिवारी, एडवोकेट अजीत सिंह, एडवोकेट ललित त्रिपाठी, आशीष सिंह, अनिल बघेल,प्रदीप रघुवंशी,मनोज दीक्षित,प्रदीप शुक्ला, डॉक्टर गुलाब राय,अमिताभ कुमार, अरुण प्रकाश सिंह,राम सिंह राणा, दुर्गादत्त पाण्डेय, अमिताभ सिन्हा,उमेश नारायण सिंह,राकेश तिवारी, हनुमान तिवारी, सुशील तिवारी, राधेश्याम मिश्रा, एडवोकेट सुनील त्रिपाठी,दीपक कबीर,अजय सिंह, बसंत उपाध्याय, जलज त्रिपाठी, राघवेंद्र सिंह, कौशलेंद्र पाल राजा साहब अहरा बस्ती ,एडवोकेट विनीत चंद्रा,अशोक तिवारी, उपेंद्र सिंह,हिमांशु चौधरी, एडवोकेट के पी सिंह, अभिमन्यु सिंह,प्रकाश सिंह,अंशुमान सिंह,टी यार सिंह”प्रबुद्ध”आशुतोष चौहान, एडवोकेट प्रद्युमन वर्मा, एडवोकेट राम प्रताप सिंह चौहान, एडवोकेट अमरेश पाल सिंह गुड्डू, प्रशांत सिंह,अजय द्विवेदी, सियाराम वर्मा, अशोक श्रीवास्तव,संजय कटियार, संजीव मौर्य, मनीष सिंह गौर गिरीश तिवारी, राजेश सिंह पप्पू”ढाबा”,

सरदार हरपाल सिंह, संजय दुबे, विनोद त्रिपाठी अप्पू, आशीष दीक्षित, एडवोकेट रंजीत सिंह बघेल रंजीत यादव, शिव पांडे, प्रदीप पांडे,अनुराग राठौर, मनोज सिंह, राजेश गिरी, विवेक सिंह बाबा, संजय दुबे, सुरेश गुप्ता, पत्रकार अतुल मोहन सिंह, संजय श्रीवास्तव (वरिष्ठ पत्रकार) वरिष्ठ पत्रकार अनुपम चौहान और भरत सिंह(वरिष्ठ पत्रकार), वरिष्ठ पत्रकार स्वतंत्र मिश्रा की मौजूदगी ने कार्यक्रम में चार चांद लगा दिए। एलुमनाई फाउंडेशन की ओर से नामित शिक्षा क्षेत्र से पदम श्री प्रोफ़ेसर महेंद्र सिंह सोढा को पूर्व उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा द्वारा, विश्वविद्यालय कर्मचारी संगठन से नामित रिटायर्ड असिस्टेंट रजिस्ट्रार मोहम्मद रईस को सभापति कुंवर मानवेंद्र सिंह द्वारा, विश्वविद्यालय में सेवा क्षेत्र से रमेश कनौजिया को उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना द्वारा अंग वस्त्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

About Samar Saleel

Check Also

UPRVUNL AE Vacancy 2022: असिस्टेंट इंजीनियर के पदों पर निकली भर्ती, मिलेगा 1.77 लाख रुपये वेतन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड  ने ...