नाम और रंग बदलने वाली भाजपा सरकार ने विकास का कोई नाम नहीं किया: अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में अपनी हार सामने देखकर भाजपा के शीर्ष नेतृत्व में खलबली मच गई है, इसीलिए हर हफ्ते कोई न कोई दौड़ा चला आ रहा है। उत्तर प्रदेश में भाजपा के हार का डर जितना बढ़ेगा, उतने ही उत्तर प्रदेश में भाजपा नेताओं को ‘दौरा‘ पड़ेगा।

भाजपा नेतृत्व भी समझ रहा है कि साढ़े चार साल बीत जाने पर भी उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है। इसके कामकाज से जनता में भारी विरोध है। प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट है। शिक्षा-स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल है। किसान आंदोलित हैं। नौजवान हताश हैं। बेरोजगारी बढ़ी है। व्यापार चौपट है। महिलाएं अपमानित हो रही हैं। मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री जी अपने नाम की पट्टिका लगाकर चाहे जितना खुश हो लें लेकिन जनता जानती है कि भाजपा सरकार उसे धोखा दे रही है, उनके साथ छल कर रही है।

भाजपा समझती है जनता उसके बहकावे में फिर आ जाएगी जबकि जनता भाजपा के जुमलों को जान गई है। नाम और रंग बदलने वाली भाजपा सरकार आज तक प्रदेश की जनता को अपना कोई काम नहीं बता पाई है। वह आज भी सपा सरकार के कामों के शिलान्यास का शिलान्यास और उद्घाटन का उद्घान कर रही है। पिछले दिनों कुशीनगर एयरपोर्ट के उद्घाटन पर खूब ढोल नगाड़े बजाए गए जबकि वह समाजवादी सरकार की देन है।

जबकि भाजपा सरकार के चंद दिन ही बचे हैं आधा-अधूरा तैयार पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के बहाने भाजपा सरकार नया तमाशा करने जा रही है। प्रदेश की जनता जानती है कि एक्सप्रेस-वे और प्रदेश में चल रही मेट्रो परियोजनाएं समाजवादी सरकार की देन है। समाजवादी सरकार ने ही विकास के लिए नई दिशा दी है। भाजपा सरकार ने प्रदेश को बर्बाद करने के सिवाय और कुछ नहीं किया है।

लखनऊ से बलिया तक समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की रूपरेखा समाजवादी सरकार ने तैयार की, जमीन अधिग्रहण किया और समाजवादी सरकार में ही उसका शिलान्यास हो गया। द्वेषवश भाजपा सरकार ने वह काम रोक दिया और झूठी वाहवाही के लिए नए सिरे से शिलान्यास किया गया। अब उसे भाजपा अपने नए इवेंट के रूप में पेश करने जा रही है। समाजवादी सरकार की एक्सप्रेस-वे से प्रेरणा लेकर भाजपा सरकार ने नकल में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से पहले तो समाजवादी शब्द हटाया और अब उस पर विमान उतारने का ‘‘नाट्य रूपांतरण‘‘ करने जा रही है।

यह बात तो बच्चा-बच्चा जानता है कि देश में पहली बार एक्सप्रेस-वे पर लड़ाकू विमान उतारने का काम समाजवादी सरकार में हुआ था। सन् 2016 में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन हुआ था। इसे समाजवादी सरकार ने रिकॉर्ड 22 महीने में तैयार किया था। समाजवादी सरकार के कामों को अपना बनाकर पेश करने के अलावा भाजपा सरकार ने अब तक कुछ भी नहीं किया है। जनता भाजपा की झूठी कहानियों से तंग आ चुकी है और सन् 2022 में उसने भाजपा को हटाने, समाजवादी पार्टी को पुनः सत्ता में लाने का इरादा कर लिया है।

About Samar Saleel

Check Also

आस्था के अनुरूप अयोध्या-अभिव्यक्ति

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें अयोध्या जी के प्रति भारत ही नहीं दुनिया ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *