Breaking News

मेहमानों को बनाकर खिलाएं रबड़ी मालपुआ, फटाफट जाने पूरी रेसिपी

त्योहार हो या उत्सव, घर आए मेहमानों का मुंह मीठा करवाने का चलन काफी पुराना है। कुछ ही दिनों में होली का त्योहार आने वाला है। इस साल रंगों का ये पर्व 8 मार्च को मनाया जाएगा।

ऐसे में अगर आप भी अपने गेस्ट का मुंह मीठा करवाने के लिए कुछ अलग और टेस्टी ट्राई करना चाहती हैं तो झटपट बनाएं रबड़ी मालपुआ। ये रेसिपी सिंपल मालपुआ से बिल्कुल अलग और टेस्टी है। जिसे आप बड़ी आसानी से घर पर बना सकते हैं।

रबड़ी मालपुआ बनाने की विधि-
रबड़ी मालपुआ बनाने के लिए सबसे पहले आप मैदा, मावा और सूजी को मिक्स करके पानी की मदद से उसका एक नरम डो तैयार कर लें। अब कड़ाही में देसी घी डालकर उसे गर्म करें। अब गूंथे हुए मिश्रण की लोइयां बनाकर उसे गोल-गोल बेल लें। जब कड़ाही में घी गर्म हो जाए तब आप उसमें बेली हुई लोइयां एक-एक करके डालें और उसे दोनो तरफ से सुनहरा होने तक तलें। आपके मावा मालपुआ बनकर तैयार है। इन्हें प्लेट में निकालकर रख लें।

रबड़ी मालपुआ की चाशनी बनाने के लिए सबसे पहले एक पैन में 2-3 गिलास पानी डालकर उसे गर्म कर लें। इसके बाद पानी में 1 किलो चीनी डालकर एक तार की चाशनी तैयार कर लें। जब चाशनी पक जाए तब उसमें मालपुआ डालें।

रबड़ी मालपुआ की रबड़ी तैयार करने के लिए सबसे पहले एक कड़ाही में दूध डालकर इसमें चीनी डालकर आधा घंटे तक धीमी आंच पर हिलाते हुए पकाएं। फिर इसमें इलायची पाउडल और मेवे डालकर थोड़ी देर तक पकाएं। दूध गाढ़ा होकर रबड़ी बन जाएगा। इसमें आप केसर के धागे भी डाल दें। रबड़ी को ठंडा करके आप इसे थोड़ी देर फ्रिज में रख दें। इससे इसका स्वाद और भी बढ़ जाएगा।

रबड़ी मालपुआ को सर्व करने से पहले उन्हें चाशनी से निकालकर एक प्लेट में रखें और ऊपर से उस पर ठंड़ी रबड़ी और मेवे डालकर इसे सर्व करें।

रबड़ी मालपुआ बनाने के लिए सामग्री-
-मावा- 250 ग्राम मैश किया हुआ
-चीनी- 1 किलो
-देसी घी- 600 ग्राम
-मेवे- थोड़े से मिक्स
-मैदा- 200 ग्राम
-सूजी- 50 ग्राम

रबड़ी मालपुआ की रबड़ी बनाने के लिए सामग्री-
-दूध- 1 किलो
-चीनी- 150 ग्राम
-केसर- 8-10 पत्ते
-इलायची- 5-6 ग्राम पाउडर
-मेवे- बारीक कटे हुए पिस्ता और बादाम

About News Room lko

Check Also

यात्रा के दौरान भी चाहिए ग्लोइंग त्वचा तो रखें इन बातों का ध्यान, वरना स्किन भी करेगी ‘सफर’

शायद ही कोई व्यक्ति ऐसा होगा, जिसे घूमना-फिरना पसंद नहीं होगा। आज के समय में ...