बारेका में रेल विकास कौशल प्रशिक्षण प्रमाणपत्र व टूल किट वितरण समारोह

बनारस रेल इंजन कारखाना में आज रेल कौशल विकास योजना के अंतर्गत चार तकनीकी ट्रेडों (इलेक्ट्रिशियन, फिटर, मशीनिष्ट2 और वेल्डलर) के लिए सौ घंटे के प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षित दि्वतीय बैच के 44 प्रशिक्षुओं को टूलकिट एवं प्रमाण पत्र वितरित किया गया।

उल्लेखनीय है कि रेल कौशल विकास योजना का शुभारंभ अश्विनी वैष्ण्व, माननीय रेल, संचार, इलेक्ट्रानिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री द्वारा दिनांक 17 अक्टूबर को विश्वाकर्मा पूजा के दिन किया गया। रेल कौशल विकास योजना कार्यक्रम रेलवे प्रशिक्षण संस्थावनों के माध्यम से स्थानीय युवाओं को उद्योग आधारित प्रशिक्षण प्रदान कर कुशल एवं रोजगार के लिए सक्षम बनाने का प्रयास है। इस कार्यक्रम के माध्यम से आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में देश के युवाओं में आत्म विश्वास पैदा करने के माननीय प्रधानमंत्री के संकल्प को आगे बढ़ाया जा रहा है।

रेल कौशल विकास योजना कार्यक्रम प्रधानमंत्री रेल कौशल विकास योजना के अंतर्गत है, जिसे कौशल विकास एवं उद्यम मंत्रालय द्वारा आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को प्राप्त करने के लिए शुरू किया गया है। पूरे भारत में 75 रेलवे प्रशिक्षण संस्थानों के माध्यम से आगामी तीन वर्षों में कुल 50,000 युवा प्रशिक्षित किए जाएंगे।

विदित हो कि बनारस रेलइंजन कारखाना को रेल कौशल विकास योजना कार्यक्रम के कार्यान्वयन के लिए नोडल एजेंसी नामित किया गया है। प्रशिक्षण के लिए पाठ्यक्रम एवं मूल्यांकन प्रक्रिया का निर्धारण बनारस रेल इंजन कारखाना द्वारा किया गया है। रेल कौशल विकास योजना कार्यक्रम के लिए प्रशिक्षुओं का चयन खुले विज्ञापन के माध्यम से पारदर्शी चयन प्रणाली द्वारा किया गया। प्रशिक्षुओं को 100 घंटे का व्यावहारिक एवं सैद्धांतिक प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण के पश्चाात सभी प्रशिक्षुओं का मानक तरीके से मूल्यांकन किया गया एवं सफल प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्र वितरित किया गया।

बनारस रेल इंजन कारखाना ने सफल प्रशिक्षुओं को उनके ट्रेड से संबंधित टूलकिट उपलब्ध कराने का यह एक अनूठा कदम उठाया। इस टूलकिट से उनकी दक्षता एवं आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। इस टूलकिट से उनको अपने ज्ञान का उपयोग करने में मदद मिलेगी, स्वरोजगार की क्षमता बढ़ेगी साथ ही विभिन्न उद्योगों में उन्हें रोजगार भी मिलेगा। इस टूलकिट का वितरण कार्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के अंतर्गत औद्योगिक सहभागियों के सहयोग से किया गया।

इस अवसर पर प्रमुख मुख्य सामग्री प्रबंधक ए.के.राठौर, मुख्य सामग्री प्रबंधक/मुख्यालय मनोज कुमार, मुख्य सामग्री प्रबंधक/इंजन समीर वर्मा, प्राचार्य, प्राविधिक प्रशिक्षिण केन्द्र राम जन्म चौबे सहित समस्त अधिकारी, कर्मचारी, प्रशिक्षक एवं प्रशिक्षु उपस्थित थे। अंत में धन्यवाद ज्ञापन ए.एम.ई./ट्रेनिंग विपिन कुमार श्रीवास्तव ने किया।

रिपोर्ट-संजय गुप्ता

About Samar Saleel

Check Also

उपमन्यु वाटिका सौंदर्यीकरण का लोकार्पण

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। अमृत योजना के अंतर्गत उपमन्यु वाटिका विजय ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *