Breaking News

राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित योगी की योजनाएं

 डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

उत्तर प्रदेश में ओडीओपी व फ़िल्म सिटी की स्थापना योगी आदित्यनाथ की अभिनव योजना है। एक जिला एक उत्पाद योजना को राष्ट्रीय स्तर पर लागू किया गया है। जबकि उत्तर प्रदेश में फ़िल्म सिटी निर्मांण की चर्चा भी पूरे देश में है। इसका निर्माण कार्य प्रगति पर है। पहले इस विषय पर ऐसी कटिबद्धता किसी सरकार ने नहीं दिखाई थी। संयोग यह कि इस समय सरकार का नेतृत्व एक सन्यासी कर रहे है। जो स्वयं फ़िल्म नहीं देखते। उनके अपने जीवन में सन्यास आश्रम के अनुरूप सादगी है।

ग्लैमर से सम्पूर्ण दूरी है। लेकिन मुख्यमंत्री के रूप में प्रदेश के समग्र विकास का संकल्प है। इसमें फ़िल्म सिटी को भी स्थान मिला। मुंबई फ़िल्म जगत में दशकों तक एक एजेंडा चलाया गया। इसमें हिन्दू जातियों व संस्कृति का मख़ौल बनाया गया। इसने अनेक कलाकरों को विचलित भी किया। इसके विरुद्ध आवाज बुलंद होने लगी।

योगी आदित्यनाथ ने इस बदलाव का अनुभव किया। वह भारतीय संस्कृति के प्रति आस्थावान है। राष्ट्रीय शौर्य व स्वाभिमान का सन्देश देते है। इसमें फ़िल्म व मनोरंजन भी शामिल है। मनोरंजन के नाम पर किसी भी सभ्यता संस्कृति का मजाक अशोभनीय है। अन्य किसी मजहब के विषय में नकारात्मक दृश्य दिखाने का लोगों में साहस नहीं होता। हिन्दू संस्कृति पर वह दुस्साहस के साथ प्रदर्शन करते है। योगी आदित्यनाथ समरसता व स्वाभिमान के विचारों को महत्व देते है। वह तो विद्यालयों के भवनों का निर्माण भी इस प्रकार चाहते है जिससे राष्ट्रीय शौर्य की प्रेरणा मिले। उत्तर प्रदेश में फ़िल्म सिटी के निर्माण का निर्णय क्रांतिकारी था। इसको फ़िल्म जगत का अप्रत्याशित समर्थन मिला। निर्णय के बाद से बड़ी संख्या में दिग्गज फ़िल्म कलाकार योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर रहे है।

अभिनेत्री कंगना रनौत लखनऊ में योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। उन्होंने फिल्म तेजस की शूटिंग में सहयोग के लिए योगी आदित्यनाथ का आभार व्यक्त किया। कंगना रनौत ने बताया कि वह राम मंदिर पर फिल्म अयोध्या बना रही हैं। कंगना रनौत उत्तर प्रदेश के लिए एक जिला एक उत्पाद अर्थात ओडीओपी का ब्रांड एंबेसडर मनोनीत किया गया है। ओडीओपी योगी आदित्यनाथ की है। एक जिला एक उत्पाद की धूमिल हो चुकी विरासत को नई पहचान मिल रही है।

योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने वाली अनेक योजनाएं शुरू की हैं। एक जिला एक उत्पाद ओडीओपी उन्ही में से एक रही है। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने इसकी आधारशिला रखी थी। जबकि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इसे लांच किया था। व्यापार सुगमता की सूची में उत्तर प्रदेश आगे बढ़ रहा है। सुधार में सिंगल विंडो पोर्टल भूमि की उपलब्धता और आवंटन कर भुगतान प्रणाली पारदर्शी सूचनाएं उपलब्ध कराने का कार्य शामिल है। लघु स्तर पर इकाई लगाने के लिए आसान कर्ज की भी व्यवस्था की गई। लोन की मार्जिन धनराशि में पच्चीस प्रतिशत की छूट सरकार दे रही है। इसके साथ ही टूल किट का वितरण भी किया जा रहा है। ओडीओपी के तहत सभी जिलों के उत्पाद का उत्पादन वृद्धि के लिये ट्रेनिंग दी जा रही है।

प्रत्येक जिले में सामान्य सुविधा केंद्र भी बनाए गए है।ओडीओपी के उत्पाद ई कॉमर्स वेबसाइट अमेजन से भी बिक्री की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। अमेजन अपनी वेबसाइट में ओडीओपी की एक माइक्रो साइट विकसित की है। ई कॉमर्स साइट, फ्लिपकार्ट स्नैपडील अलीबाबा आदि से भी सहयोग आगे बढ़ा है। उत्तर प्रदेश हजारों करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा अर्जित कर रहा है। इस योजना से राष्ट्रीय निर्यात में भारी वृद्धि हो रही है। प्रदेश में कृषि क्षेत्र के बाद सबसे अधिक रोजगार परंपरागत उद्योगों में ही उपलब्ध है।

अब ओडीओपी योजना के तहत सूक्ष्म,लघु, मध्यम उद्यम,निर्यात प्रोत्साहन विभाग तथा के क्वालिटी काउंसिल आफ इंडिया के बीच करार पर हस्ताक्षर किये गए थे। इससे उत्तर प्रदेश में निर्मित केवीआईबी उत्पादों के संवर्धित उपयोग और बाजार के लिए गुणवत्ता ढांचे के विकास होगा। इसके अंतर्गत क्यूसीआई सभी ओडीओपी उत्पादों के लिए घरेलू और निर्यात बाजारों के लिए गुणवत्ता मूल्यांकन मापदंडों की पहचान का विकास करेगा। निर्धारित गुणवत्ता ढांचे के अनुसार ओडीओपी उत्पादों के परीक्षण की सुविधा के लिए क्यूसीआई प्रत्येक ओडीओपी उत्पाद के लिए आवश्यक परीक्षणों की पूरी सूची तैयार करेगा। क्यूसीआई सभी हितधारकों,कारीगरों, एमएसएमई इकाइयों और ओडीओपी अधिकारियों के लिए संवेदीकरण कार्यशालाओं के संचालन के लिए एक व्यापक मॉड्यूल विकसित करेगा। इस प्रकार क्यूसीआई द्वारा ओडीओपी उत्पादों के लिए विकसित गुणवत्ता मानकों के बारे में जागरूकता बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा।

एमओयू के अंतर्गत क्यूसीआई,एनएबीएल से मान्यता प्राप्त टेस्टिंग एण्ड कैलीबरेशन लैब्स का लाभ उठाकर प्रत्येक ओडीओपी उत्पाद के प्रत्येक परीक्षण के लिए उपलब्ध परीक्षण एजेंसी के विवरण से अवगत कराएगा। यह विश्व में गुणवत्तापूर्ण ओडीओपी उत्पादों को पहुंचाने की व्यवस्था करेगा। कुछ समय पहले भी योगी आदित्यनाथ ने फिल्म जगत के प्रतिनिधियों को प्रदेश के ओडीओपी उत्पाद भेंट किये। कलाकारों ने इन उत्पादों के प्रति जिज्ञाषा दिखाई। क्योंकि इसमें उत्तर प्रदेश की विविधता परिलक्षित थी। स्थानीय स्तर पर चल रहे हुनर संबन्धी उत्पाद भी अब सभी जगह उपलब्ध होने लगे है। फ़िल्म की शूटिंग उत्तर प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर प्रस्तावित थी। मुख्यमंत्री ने सुगम शूटिंग कार्य हेतु हर सम्भव सुविधा उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया था। तब योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में फिल्म निर्माण से जुड़ी गतिविधियों को प्रोत्साहित कर रही है। इसके लिए फिल्म नीति के अन्तर्गत विभिन्न प्राविधान किये गये हैं।

फिल्म उद्योग के इन प्रतिनिधियों ने प्रदेश में फिल्म सिटी की स्थापना के निर्णय के लिए मुख्यमंत्री को बधाई देते हुए कहा था कि राज्य सरकार की यह पहल प्रदेश में फिल्म गतिविधियों में अभूतपूर्व बढ़ोत्तरी लाने में उपयोगी सिद्ध होगी। योगी आदित्यनाथ ने वेब सीरीज इन्स्पेक्टर अविनाश की टीम के सदस्यों से संवाद किया था। उनसे मुलाकात करने वालों में वेब सीरीज के निर्माता राहुल मित्रा,निर्देशक नीरज पाठक,अभिनेत्री उर्वशी रौतेला तथा अभिनेता रणदीप हुड्डा सम्मिलित थे।

About Samar Saleel

Check Also

आत्मनिर्भर भारत में यूपी का योगदान

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें महात्मा गांधी खादी को केवल वस्त्र नहीं विचार ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *