Breaking News

‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020: चुनौतियां एवं संभावनाएं’ विषय पर विश्वविद्यालय में सेमिनार आयोजित

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय के विधि संकाय की मूट कोर्ट कमेटी द्वारा एडमिनिस्ट्रेटिव ब्लॉक के जूरिस हॉल में विषय “राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020: चुनौतियां एवं संभावनाएं” पर राष्ट्रीय स्तरीय सेमिनार आयोजित कराया गया। कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि आरएमएलएनएलयू, लखनऊ एवं डीएनएलयू, जबलपुर के पूर्व कुलपति प्रोफेसर बलराज चौहान मौजूद रहे।

‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020: चुनौतियां एवं संभावनाएं’ विषय पर विश्वविद्यालय में सेमिनार आयोजित

विशेष अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार के अतिरिक्त महाधिवक्ता कुलदीप पति त्रिपाठी उपस्थित रहे। कार्यक्रम के प्रारंभ में सेमिनार की आयोजन सचिव एवं मूट कोर्ट कमेटी की शिक्षिका संचालिका विनीता काचर ने सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों का स्वागत किया तथा राष्ट्रीय शिक्षा प्रणाली के अहम बिंदुओं पर चर्चा की। विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर बलराज चौहान ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के बारे में बताया की यूं तो विधि का क्षेत्र इस नीति के परिपेक्ष्य से बाहर है, परंतु विधिक शिक्षा में इंटीग्रेटेड कोर्स बहुत पहले ही शुरू कर दिए गए थे, जिससे छात्रों को 6 की बजाए 5 वर्षों में विधिक अंडरग्रैजुएट शिक्षा प्राप्त करवा पाना संभव हो सका है।

नवीन शिक्षा नीति, शिक्षा के क्षेत्र में अति आवश्यक एवं विशेष पहल है। चुनौतियां जैसे शिक्षा में सुगम्यता, समानता, गुणवत्ता, सामर्थ्य एवम जवाबदेही से जीतकर इस नीति को पूर्णता लागू कराया जा सकता है। विशेष अतिथि कुलदीप पति त्रिपाठी ने बताया की नवीन शिक्षा प्रणाली 34 वर्षों के विलंब के पश्चात शिक्षा के क्षेत्र में एक अभूतपूर्व परिवर्तन लाने में सक्षम है। उन्होंने बताया की विधिक शिक्षा एवं मेडिकल शिक्षा इस नवीन प्रणाली के परिपेक्ष से बाहर हैं परंतु इसके अहम बिंदुओं को विधि विश्वविद्यालयों ने अपनाते हुए अपने करिकुलर में भी शामिल किया है।

संकाय अध्यक्ष एवं विभाग अध्यक्ष प्रोफेसर सीपी सिंह ने बताया कि यदि नई शिक्षा नीति उचित रूप से लागू की जाए तो यह मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने कहा की उच्च शिक्षण संस्थान केवल डिग्री बांटने के केंद्र नहीं बनने चाहिए बल्कि मानव संसाधनों के विकास के केंद्र होने चाहिए। राष्ट्रीय शिक्षा नीति इसी उद्देश्य के साथ विकसित और लागू की जा रही है। तत्पश्चात उपस्थित सभी अतिथियों को धन्यवाद दिया एवं समस्त प्रतिभागियों के उज्जवल भविष्य की कामना की। कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह के उपरांत देश भर से आए प्रतिभागियों ने राष्ट्रीय शिक्षा प्रणाली 2020 पर अपने द्वारा लिखे पेपर प्रस्तुत किए एवं सेमिनार द्वारा विशेष ज्ञान अर्जित किया।

About reporter

Check Also

बलिदान दिवस के अवसर पर सीएम योगी ने किया बलिया का दौरा व अमर सपूतों को दी श्रद्धांजलि

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज बलिया दौरे पर हैं। ...