Breaking News

एसिड से जली महिलाओं में चॉकलेट बांट कर समाज सेवी सारिका दुबे ने मनाया वेलेंटाइन डे

चन्दौली। जनपद में हर जगह 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे तो कहीं मात्र पितृ पूजन दिवस मनाया गया। वही पर चंन्दोली की बेटी सारिका दुबे ने कहां की पुलवामा अटैक और वैलेंटाइन डे जो एक प्रेम का प्रतीक है तो वही दूसरा त्याग, बलिदान और समर्पण का दिन, इन दोनों को ध्यान में रखते हुए हमारे देश के कुछ ऐसे लोग जिन्होंने ना कहने की बहुत ही बड़ी कीमत चुकाई है।

ऐसी लड़कियां व महिलाएं जो एसिड अटैक के कारण अपना जीवन लगभग खो ही चुकी थी लेकिन फिर भी चुनौतियों का सामना किया और लोगों के सामने एक मिसाल बनी, तथा जीवन जीने का सही तरीका सिखाया। उन सभी के जज्बे को सलाम करते हुए मैं वैलेंटाइन डे पर उनके साथ प्रेम बांटने के लिए कि हम और हमारा पूरा देश उन्हें सलाम करता है, तथा उन्हें बहुत ही प्रेम और प्यार देता है।

उन्हें अपने से अलग बिल्कुल नहीं समझता है उन्हें इसी समाज में जीने के लिए प्रोत्साहित करता है। इन्हीं शुभकामनाओं के साथ चॉकलेट देकर उनके साथ अपना प्यार साझा किया व यह प्यार का अनमोल दिन सेलीब्रेट किया।

रिपोर्ट-अमित कुशवाहा

About reporter

Check Also

स्वयं सहायता समूहों को अपनी गतिविधियों को बढ़ावा देने हेतु दिया जा रहा है भरपूर प्रोत्साहन- केशव प्रसाद मौर्य

• समूहों को दी जाने वाली रिवाल्विंग फण्ड की धनराशि की गयी दो गुनी उत्तर ...