Breaking News

लखनऊ में संदिग्ध आतंकी

लखनऊ- राजधानी के काकोरी थानाक्षेत्र के हाजी कॉलोनी स्थित एक मकान में कुछ संदिग्ध आतंकियों के छुपे होने से सनसनी फैल गयी। जानकारी के मुताबिक लखनऊ एटीएस ने एमपी एटीएस से मिली इनपुट पर हाजी कॉलोनी स्थित एक मकान का घेरा बंदी कर दिया । लखनऊ एटीएस ने शाम तकरीबन 3:30 बजे हाजी कॉलोनी स्थित एक मकान की घेरा बंदी शुरू कर कार्यवाही शुरू किया । इस ऑपरेशन में एटीएस के करीब 20 स्पेशल कमांडो मौके पर मौजूद थे। आंतकी खुद को एक कमरे में बंद किए हुये थे। जिस वजह से आतंकियों की संख्या का सही पता नही चल पा रहा है। शाम तकरीबन 5 बजे मकान के अंदर से फ़ाइरिंग शुरू हुई। एटीएस की तरफ से भी जवाबी फायर झोंकी गयी। दोनों तरफ से तकरीबन 15 से 20 राउंड गोलियां चली। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा था कि मकान के अंदर तकरीबन 3 आतंकी मौजूद है। आईजी एटीएस असीम अरुण ने बताया की एटीएस आॅपरेशन में पूरी तरह एहतियात बरतते हुए कोशिश कर रही है कि संदिग्ध आतंकी जिंदा पकड़ लिया जाए ।
ग्राउंड जीरो तहक़ीक़ात
एटीएस की तफतीश पता चला की मकान के अंदर सैफुल उर्फ सैफुल्लाह नाम का एक आतंकी मौजूद है । सैफुल जिस मकान में मौजूद था व मकान मलीहाबाद के मूल निवासी बादशाह नामक शख्स का बताया जा रहा है जो सऊदी अरब में रहता है। बताया जाता है की बादशाह खुद सऊदी अरब में रहता है और मकान की ज़िम्मेदारी लखनऊ निवासी एक व्यक्ति को दे रखा था ।। केयर टेकर के मुताबिक बीते दिनों चार युवक जो अपने आप को छात्र बता रहे थे उन्होंने किराए पर मकान लिया था।
शाम 5 बजे जवाबी कार्यवाही में आतंकी की मरने की आई थी ख़बर
शाम को 5 बजे दोनों तरफ से गोलीबारी के बाद एक खबर फैली की आतंकी को ढेर कर दिया है। पुलिस ने मौके पर एम्बुलेन्स बुलाया जिससे इस बात पर मुहर लगती दिखी की आतंकी का अंत हो चुका है।लेकिन थोड़ी ही देर में आईजी एटीएस असीम अरुण ने मीडिया से मुखातिब होते हुए यह जानकारी दी कि आतंकी को जिंदा पकड़ने की हर मुमकिन कोशिश की जा रही है। आतंकियों की तरफ से की गयी फायर पर जवाबी कार्यवाही की गयी है,परंतु आतंकी के मरने की पुष्टि नहीं हुई है। कमरे में खून दिखाई दे रहा है जिससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि आतंकी हमले में घायल हुआ है। घायल को अस्पताल पहुचाने के लिए एम्ब्युलेन्स बुलाया गया है।

चिली बम व टियर गैस का भरपूर प्रयोग

एटीएस, लखनऊ पुलिस के साथ मिलकर आतंकी को जिंदा गिरफ्तार करने की भरपूर कोशिश में लगी हुई थी। आतंकी को कमरे से बाहर आने के लिए घर में तकरीबन दर्जन भर चिली बम व टियर गैस का प्रयोग किया गया। लेकिन आतंकियों पर चिली बम व टियर गैस का कोई प्रभाव नही हुआ। इस सबके बाद भी आतंकी खुद को अपने कमरे में बंद किए हुए था।

पुलिस ने कराया आतंकी के भाई से बात

पुलिस एडीजे दलजीत चौधरी ने बताया कि आतंकी को जिंदा पकड़ने की भरपूर कोशिश की जा रही थी। इसी क्रम में आतंकी सैफुल के परिजनों से संपर्क किया गया। आतंकी के भाई से उसकी बात करा कर आत्मसमर्पण की बात की गयी परंतु आतंकी ने साफ मना कर दिया। सैफुल ने अपने भाई से बताया की मर जाऊंगा पर पुलिस के सामने झुकूँगा नहीं।

आतंकी बंद कमरे से लगा रहा था जिहाद-जिहाद का नारा

खुद को चारो तरफ से घिरा देख संदिग्ध आतंकी ने अपने आप को एक कमरे मे बंद कर लिया। पुलिस की तमाम कोशिश के वावजूद भी आतंकी बाहर नहीं आया। आतंकी कमरे के अंदर से बार-बार जिहाद-जिहाद जिंदाबाद का नारा लगा रहा था। आतंकी के भाई ने जब उसे आत्मसमर्पण करने को कहा तो वह उसे भी जिहाद का पाठ पढ़ाने लगा।

एक आतंकी के ढेर होने की ख़बर ?? 

जवाबी फ़ायर , चिलीबम , टियर गैस के बाद कोई हलचल न होने पर पुलिस ने छत में एक छोटा सुराग बना कर मौके का जायजा लिया। पुलिस ने देखा एक युवक फर्श पर पड़ा हुआ है, उसके आस पास खून बिखरा हुआ है और उसके पास हथियार भी मौजूद है। लगातार कई घंटो से युवक एक ही मुद्रा में फर्श पर पड़ा हुआ है जिससे आतंकी के ढ़ेर होने का अनुमान लगाया जा रहा है। मौके पर डॉक्टरों की टीम भी बुलाई गयी परंतु में अन्य आतंकियों के मौजूद होने की आशंका पर डॉक्टरों की टीम अंदर नहीं जा सकी। जिसकी वजह से आतंकी की मौत की आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पायी।

Loading...

एक नहीं दो है आतंकी , ख़बर लिखे जाने तक दोनों जीवित

घटनास्थल पर कमरे का नज़ारा पूर्ण रूप से स्पष्ट नहीं हो पा रहा था। इस वजह से पुलिस ने छत में दूसरा छेद बनाकर दोबारा पड़ताल किया। दूसरे छेद से झांक कर देखने पर पता चला चला कमरे में एक और आतंकी मौजूद है। एसएसपी लखनऊ मंज़िल सैनी ने यह स्पष्ट किया की कमरे के अंदर एक नहीं दो आतंकी मौजूद है, जिन्हें जिंदा पकड़ने की हर संभव कोशिश की जा रही है।

मध्यप्रदेश , कानपुर व इटावा से भी गिरफ्तार हुये संदिग्ध

मंगलवार का दिन आतंकी के नाम रहा, दिनभर की धरपकड़ में देश के अलग अलग हिस्सों से कई आतंकी दबोचे गए। मध्यप्रदेश के पिपरिया क्षेत्र से तीन संदिग्ध पकड़े गए। इटावा से भी एक संदिग्ध फकरे आलम को दबोचे जाने की सूचना है। वही एटीएस ने कानपुर बेकनगंज स्थित रहमानी मार्केट,चकेरी के जाजमऊ और चमनगंज इलाके में दबिश देकर चकेरी के जाजमऊ से फैसल खां और मोहम्मद इमरान नामक शख्स को पकड़ा है। बताया जाता है कि फैसल खां नाम का यह शख्स पिछले कई दिनों से एक परचून की दुकान चला रहा था। इसके पास से एटीएस ने कुछ हथियार अाैर बड़ी मात्रा में विस्फाेटक बरामद किया है। अभी भी कानपुर के कुछ इलाकाें में अातंकियाें के छिपे हाेने की सूचना है। इसपर एटीएस अाैर पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। बताया जा रहा है कि दबोचे गए संदिग्धों की निशानदेही पर लखनऊ व उत्तर प्रदेश में अन्य जगहों पर छापेमारी की जा रही है।

पूरे यूपी में हाइअलर्ट

आतंकियों की ताबड़तोड़ गिरफ्तारी व मौजूदगी से पूरे

उत्तरप्रदेश में हाइअलर्ट जहाँ जारी किया गया है।

  • कानपुर
  • लखनऊ
  • काशी (बनारस)
  • अयोध्या
  • आगरा
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

PMC बैंक घोटाला : अब महिला खाताधारक ने की आत्महत्या

पीएमसी बैंक के एक खाताधारक की दिल का दौरा पड़ने से मौत के 24 घंटे ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *