Breaking News

संविधान विरोधी बयान देने वाले विधायक साजी चेरियन की मुश्किलें बढ़ी, पुलिस ने दर्ज की FIR

केरल में पिनराई विजयन की  वामपंथी कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) सरकार के मंत्री रहे साजी चेरियन की संविधान का अपमान करने के मामले में मुश्किलें बढ़ गई हैं। साजी चेरियन के खिलाफ को केस दर्ज किया गया है। उन्होंने राज्य कैबिनेट के मंत्री पद से भी इस्तीफा दे दिया है।तिरुवल्ला में एक मजिस्ट्रेट अदालत के आदेश पर अमल करते हुए पुलिस ने चेरियन के खिलाफ मामला दर्ज किया।

इस मामले में एक के आदेश पर पठानमथिट्टा जिले की कीझवईपुर पुलिस ने राष्ट्रीय सम्मान के अपमान की रोकथाम अधिनियम की धारा-2 के तहत केस दर्ज किया है। इस बात की पुष्टि एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने की है।अदालत ने चेरियन के खिलाफ एर्नाकुलम के एक वकील द्वारा कथित रूप से संविधान का अपमान करने को लेकर दायर एक याचिका पर सुनवाई करते हुए मामला दर्ज करने का निर्देश दिया था।

संविधान के अपमान के मामले में दोषी पाए जाने पर उन्हें अधिकतम तीन साल कारावास या जुर्माना या दोनों की सजा मिल सकती है। जिस दौरान संविधान के अपमान के मामले में चेरियन के खिलाफ ये केस दर्ज किया जा रहा था, चेरियन ने संविधान की आलोचना करते हुए कहा था कि यह ”शोषण को माफ करता है” और इसे इस तरह से लिखा गया है कि इसका इस्तेमाल देश के लोगों को ”लूटने” के लिए किया जा सके।

About News Room lko

Check Also

स्वतंत्रता आन्दोलन में क्रातिकारियों का सशत्र विद्रोह

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान ये याद ...