Breaking News

ट्रेन बनी यात्रियों की फेवरेट, एक महीने से भी कम समय में की 10 करोड़ से अधिक की कमाई

वंदे भारत ट्रेन भारतीय रेलवे द्वारा चलाई जाने वाली कुछ खास ट्रेनों की लिस्ट में शुमार है। वंदे भारत ट्रेनें देश के की हिस्सों में अलग अलग रूटों पर चलाई जाती है। इसी बीच वंदे भारत ट्रेन को लेकर मध्य रेलवे ने खास आंकड़ा जारी किया है, जिससे साफ हो गया है कि ये ट्रेन यात्रियों की पहली पसंद बनी हुई है।

सेंट्रल रेलवे के पास मौजूद आंकड़ों के मुताबिक 15 अगस्त से नौ सितंबर तक सिर्फ 25 दिनों में ही अर्जित हो गई है। सीएमएसटी सोलापुर वंदे भारत ट्रेन में 93.71% की ऑक्यूपेंसी के साथ 1.71 करोड़ रुपये की कमाई की है। वहीं सोलापुर सीएमएसटी वंदे भारत ट्रेन ने 105.09% की ऑक्यूपेंसी के साथ 1.97 करोड़ रुपये कमाए।

आंकड़ों के मुताबिक सीएसएमटी-शिरडी वंदे भारत ट्रेन ने 81.33% ऑक्यूपेंसी के साथ 1.66 करोड़ रुपये और शिरडी-सीएसएमटी ने 81.88% ऑक्यूपेंसी के साथ 1.82 करोड़ रुपये कमाए। इस मानसून सीजन के दरमियान यानी 26 जून से शुरू हुई सीएसएमटी गोवा मडगांव-सीएसएमटी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को भी यात्रियों ने शानदार रिस्पॉन्स दिया है। सीएसएमटी-गोवा ने पिछले 25 दिनों में 92.05% की ऑक्यूपेंसी देखी और 76.11 लाख रुपये कमाए, जबकि गोवा-सीएसएमटी ने 75.5% की ऑक्यूपेंसी के साथ क्रमशः 72.04 लाख रुपये का राजस्व अर्जित। बिलासपुर-नागपुर-बिलासपुर वंदे भारत एक्सप्रेस ने भी इस अवधि के दौरान 2 करोड़ रुपये कमाए। सीआर के अनुसार, मुंबई से संचालित तीन वंदे भारत ट्रेनें निर्धारित समय सारणी को बनाए रखते हुए पाई गईं।

वंदे भारत से 1.22 लाख यात्रियों ने की यात्रा

मध्य रेलवे द्वारा जारी किए गए आधिकारिक बयान के अनुसार 15 अगस्त से 8 सितंबर तक मध्य रेलवे क्षेत्र में वंदे भारत ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों की कुल संख्या 1.22 लाख है। गौरतलब है कि वंदे भारत एक्सप्रेस एक स्वदेश निर्मित, अर्ध-उच्च गति, स्व-चालित ट्रेन सेट है। ट्रेन में अत्याधुनिक यात्री सुविधाएं हैं, जो यात्रियों को तेज़, अधिक आरामदायक और अधिक सुविधाजनक यात्रा अनुभव प्रदान करती हैं।

About News Desk (P)

Check Also

चार करोड़ व अधिक कीमत वाले मकानों की बिक्री 27 फीसदी बढ़ी, सीबीआरई की रिपोर्ट में मिली जानकारी

मजबूत मांग के कारण देश के सात प्रमुख शहरों में इस साल की पहली छमाही ...