Breaking News

AKTU में दो दिवसीय यूपी इन्क्युबेटर्स मीट का हुआ शुभारंभ

लखनऊ। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (AKTU) में शुक्रवार को यूपी इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड डिपार्टमेंट ऑफ आईटी एंड इलेक्ट्रॉनिक्स की और से दो दिवसीय यूपी इन्क्युबेटर्स मीट 2024 का उद्घाटन किया गया। कार्यक्रम में प्रदेश सरकार की ओर से मान्यता प्राप्त 63 इन्क्युबेशन सेंटर के इन्क्युबेटर्स ने हिस्सा लिया। इन सेंटर्स में 16 सौ से ज्यादा स्टार्टअप कार्यरत हैं।

दो दिन चलने वाले इस मीट में पहले दिन इन्क्युबेशन सेंटर्स की वर्तमान स्थिति की जानकारी लेकर उनके समस्याओं के समाधान पर चर्चा की गयी। बतौर मुख्य अतिथि प्रमुख सचिव डिपार्टमेंट ऑफ आईटी एंड इलेक्ट्रॉनिक्स अनिल कुमार सागर ने कहा कि यूपी स्टार्टअप पॉलिसी 2020 को बने करीब चार साल बीत गये। अब समय आ गया है कि इसका परीक्षण किया जाए। जरूरी संशोधनों को किया जाए। ताकि इन्क्युबेशन सेंटर्स और अधिक सरलता से इन्क्युबेटीज को आगे बढ़ा सकें। कहा कि वर्तमान में अमेरिका स्टार्टअप्स की महाशक्ति बन गया हैं। वहां जितने भी सफल आविष्कार हुए वो सब स्टार्टअप से निकले। स्टार्टअप किसी देश को आगे बढ़ाने में बेहद महत्वपूर्ण होते हैं। इसलिए इन्क्युबेशन सेंटर्स की समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

AKTU में दो दिवसीय यूपी इन्क्युबेटर्स मीट का हुआ शुभारंभ

कुलपति प्रो जेपी पांडेय ने कहा कि किसी भी देश की मजबूत अर्थव्यवस्था में स्टार्टअप का बड़ा योगादान होता है। उन्होंने अमेरिका का उदाहरण दिया। बताया कि अमेरिका की कुछ कंपनियां वहां की जीडीपी में पचास परसेंट से ज्यादा की हिस्सेदारी रखती हैं। हमारा देश सर्विस देने और तकनीकी को इस्तेमाल करने में अग्रणी है। मगर प्रोडक्ट बनाने और पेटेंट में हम अभी बहुत पीछे हैं। जब तक हम पेटेंट नहीं करायेंगे तब तक बात नहीं बनेगी। इसलिए इन्क्युबेशन सेंटर्स को अपने स्टार्टअप को पेटेंट करने के साथ ही उनके कॉमर्सलाइजेशन पर ध्यान देना होगा।

प्रबंध निदेशक यूपी इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पेरेशन लिमिटेड रवि रंजन ने कहा कि इस दो दिवसीय मीट में इन्क्युबेटर्स की समस्याओं को समझा जाएगा। जिससे कि उनके समाधान पर मंथन किया जा सके। हम सभी को मिलकर सफल स्टार्टअप की संख्या बढ़ाना है।

इस दौरान इनोवेशन हब के महीप सिंह ने इनोवेशन हब एवं विश्वविद्यालय के नए उठाए गए कदम के बारे में बताया. जीएल बजाज सेंटर फॉर रिसर्च एंड इन्क्युबेशन गौतमबुद्धनगर और एमआईईटी इन्क्युबेशन फोरम के प्रतिनिधि ने अपने सेंटर्स की प्रस्तुति दी। साथ ही सेंटर के सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में बताया। साथ ही सुझाव भी दिये गये। अंत में प्रमुख सचिव और प्रबंध निदेशक ने प्रश्नों के उत्तर दिए और समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया। कार्यक्रम में डीन इनोवेशन प्रोफेसर बीएम मिश्रा एसोसिएट डीन डॉक्टर अनुज कुमार शर्मा, मौजूद रहे।

About Samar Saleel

Check Also

‘बैड न्यूज़’ फिल्म का प्रमोशन करने स्टारकास्ट पहुंची राजधानी

लखनऊ। धर्मा प्रोडक्शंस और लियो मीडिया कलेक्टिव के सहयोग से अमेज़ॅन प्राइम द्वारा प्रस्तुत, कॉमेडी-ड्रामा ...