Breaking News

केंद्रीय खेल मंत्रालय ने WFI से मांगा स्पष्टीकरण पहलवानों से मिलने पहुंची भाजपा नेता फोगाट

केंद्रीय खेल मंत्रालय ने भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) से स्पष्टीकरण मांगा है। साथ ही महासंघ को ओलंपिक और राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेताओं सहित पहलवानों की ओर से लगाए गए आरोपों पर अगले 72 घंटों के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया गया है।

केंद्र और राज्य सरकार के बीच पिसता आम आदमी

गुरुवार सुबह दिल्ली के जंतर मंतर पर एक बार फिर भारतीय पहलवानों का जमावड़ा लगा, जिसमें ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक और बजरंग पुनिया सहित लगभग 200 एथलीटों ने महासंघ प्रमुख और कई कोचों के खिलाफ यौन उत्पीड़न के लिए कार्रवाई की मांग की। ओलंपियन पहलवान बजरंग पुनिया ने कहा कि अगर हम अपने देश के लिए लड़ सकते हैं, तो हम अपने अधिकारों के लिए भी लड़ सकते हैं।

चैंपियन पहलवान और बीजेपी नेता बबीता फोगट दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना स्थल पर पहुंचीं। उन्होंने कहा कि मैंने उन्हें आश्वासन दिया है कि सरकार उनके साथ है। मैं कोशिश करूंगी कि आज उनके मुद्दों को सुलझाया जाए। वहीं, पहलवान बरजंग पुनिया ने कहा कि सरकार की तरफ से बबीता फोगाट मध्यस्थता के लिए आई हैं. हम उसके साथ बात करेंगे और फिर अधिक जानकारी देंगे।

बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक, विनेश फोगट और अन्य शीर्ष भारतीय पहलवानों ने बुधवार की रात पुरानी दिल्ली के चांदनी चौक के एक मंदिर में बिताई। इससे पहले दिन में, SAI (भारतीय खेल प्राधिकरण) के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों ने भी उनसे मुलाकात की और कार्रवाई का आश्वासन दिया।

उधर, अपने ऊपर लगे आरोपों को भारतीय कुश्ती संघ के चीफ बृजभूषण सिंह ने बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि 97% खिलाड़ी WFI के साथ हैं। मैं यौन उत्पीड़न के आरोपों से आहत हूं। कोई भी खिलाड़ी मुझ पर या मुख्य कोच पर ये आरोप नहीं लगा सकता। डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष ने यौन उत्पीड़न के आरोपों पर कहा कि कुछ पहलवानों पर धरने पर बैठने का दबाव बनाया गया है।

विरोध प्रदर्शन (Wrestlers Protest) के बीच महिला राष्ट्रीय कुश्ती प्रशिक्षण शिविर को रद्द कर दिया गया है। बता दें कि शिविर 18 जनवरी, 2023 से लखनऊ में भारतीय खेल प्राधिकरण के राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र (NCOE) में आयोजित होना था। इसमें 41 पहलवान, 13 प्रशिक्षक और सहायक कर्मचारी भाग लेने वाले थे।

उधर, कांग्रेस सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे पहलवानों को उनके महासंघ द्वारा नहीं सुने जाने के बाद विरोध करना पड़ा। मैं मांग करता हूं कि भारत सरकार रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया को निलंबित कर तत्काल कार्रवाई करे। उन्होंने कहा कि CBI और SC की निगरानी में मामले की जांच होनी चाहिए।

About News Room lko

Check Also

ईशान किशन या शुभमन गिल किसके आंकड़े हैं T20 क्रिकेट में बेस्ट, 149 मैच खेलने का है अनुभव

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें भारत और न्यूजीलैंड के बीच 3 मैचों की ...