Breaking News

Uttarakhand Election 2022: कोरोना संकट के बीच रैलियों को स्थगित किए जाने की याचिका पर नैनीताल हाईकोर्ट आज करेगा सुनवाई

नैनीताल हाईकोर्ट में विधानसभा चुनाव व रैलियों को स्थगित किए जाने के मामले में दायर जनहित याचिका पर सुनवाई बुधवार को नहीं हो सकी। मामले की सुनवाई अब गुरुवार को होगी।

पूर्व में कोर्ट ने चुनाव आयोग और भारत सरकार से पूछा था कि क्या चुनाव रैलियां वर्चुअल और वोटिंग ऑनलाइन हो सकती हैं। पूर्व में सुनवाई के दौरान चुनाव आयोग की ओर से कोर्ट को बताया गया था कि चुनाव नजदीक है।

राज्य सरकार कोविड के मामलों को रोजाना पोर्टल पर अपलोड नहीं कर रही है और ना ही कोविड की एसओपी का पालन करवाया जा रहा है। याचिकाकर्ता ने यह भी कहा कि अरविंद केजरीवाल ने कोविड पॉजिटिव होने के बाद भी यहां रैली की, इसलिए इन रैलियों पर रोक लगाई जाए।कर्णप्रयाग के समीपवर्ती गांव झंगुर निवासी गजेंद्र सिंह रावत ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर कहा कि झंगुर गांव में पहले से ही सड़क मौजूद है। इस बीच लोनिवि की ओर से दूसरे गांव के लिए सड़क बनाई जा रही है ।

याचिका में कहा कि इस सड़क की लंबाई झंगुर गांव से तीन किमी है जबकि जिस गांव में यह सड़क जा रही है उस गांव से 500 मीटर दूरी पर पहले से ही सड़क है। पक्षों की सुनवाई के बाद हाईकोर्ट की खंडपीठ ने याचिकाकर्ता को इस मामले में संबंधित विभाग को प्रत्यावेदन देने के निर्देश दिए।

About News Room lko

Check Also

तो इस वजह से हरीश रावत को छोड़ना पड़ा रामनगर विधानसभा का रण, क्या इस बार हाथ लगेगी जीत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें कांग्रेस के चुनाव अभियान के सेनापति हरीश रावत ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *