अगर मधुमेह से पीड़ित हैं तो करें घरेलू उपचार

आज के समय में मधुमेह एक आम बीमारी बनती जा रही है। कुछ समय पहले तक यह समस्या अधिक उम्र में देखी जाती थी, लेकिन आज के दौर में जब अनहेल्दी लाइफस्टाइल, स्टेस और एक्सरसाइज की कमी जैसी चीजों ने व्यक्ति की जिन्दगी में जगह बना ली है, बच्चे से लेकर व्यस्क लगभग हर उम्र का व्यक्ति इसकी जद में आ चुका है। वैसे तो रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करने के लिए दवाईयों का सहारा लेना पड़ता है, लेकिन ऐसे कुछ घरेलू उपचार भी हैं, जिनके जरिए आप मधुमेह को मात दे सकते हैं। तो चलिए जानते हैं मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए कुछ घरेलू उपचार के बारे में−

 

करेला
करेले में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो हाइपरग्लाइसेमिया को कम करने की क्षमता रखता है। इसके इस्तेमाल के लिए आप करेले को सब्जी के रूप में खा सकते हैं या फिर हर रोज सुबह खाली पेट करेले के जूस का सेवन करें।
मेथीदाना
मेथीदाने का इस्तेमाल हर दिन घर में बतौर मसाले के रूप में किया जाता है लेकिन इसके सेवन से मधुमेह को भी नियंत्रित किया जा सकता है। इसके लिए आप दो चम्मच मेथी के बीजों को रातभर पानी में भिगोएं और सुबह उस पानी का सेवन करें। साथ ही मेथी के बीज को भी चबा लें।  आप चाहें तो मेथीदाने के पाउडर को गर्म या ठंडे दूध के साथ  भी पी सकते हैं।
आम के पत्ते
आम के पत्ते मधुमेह नियंत्रण के लिए एक प्रभावी उपाय है। इसके लिए आप आम के पत्तों को धोकर सुखा लें। इसके बाद इसका पाउडर तैयार कर लें। आप इस पाउडर को रोज सुबह व शाम पानी के साथ सेवन करें।
 
आंवला
दो से तीन आवंला से बीज निकालकर आवंला को पीस लें और उसका रस निकालें। आप करीबन दो टेबलस्पून आंवला के रस को एक कप पानी में मिलाएं और हर दिन इसे सुबह खाली पेट पीएं।
 
धूप
आपको शायद पता न हो लेकिन ‘विटामिन डी’ शरीर में इंसुलिन के उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ‘विटामिन डी’ का स्तर जितना कम होगा, आपको टाइप 2 मधुमेह होने का खतरा उतना ही अधिक होगा। इसलिए आप हर सुबह कुछ देर धूप में बैठें या फिर विटामिन डी समृद्ध आहार जैसे संतरे का रस, सोया दूध, पनीर, दही और अनाज आदि को अपनी डाइट में शामिल करें।
पानी 
मधुमेह पीड़ित व्यक्ति को कम से कम 2.5 से तीन लीटर पानी का सेवन अवश्य करना चाहिए।
जामुन
जामुन और इसके पत्ते रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में प्रभावशाली हैं। हर दिन लगभग 100 ग्राम जामुन का सेवन करने से रक्त शर्करा के स्तर में जबरदस्त सुधार होता है।
विटामिन सी
‘विटामिन सी’ न त्वचा के साथ−साथ मधुमेह के लिए भी अच्छा माना जाता है। हाल के अध्ययनों से पता चला है कि प्रतिदिन लगभग 600 मिलीग्राम विटामिन सी का सेवन करने से रक्त शर्करा के स्तर में काफी सुधार हो सकता है इसलिए आप विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ जैसे आंवला, संतरा, टमाटर और ब्लूबेरी आदि को डाइट में जरूर शामिल करें।

About Jyoti Singh

Check Also

बारिश में स्किन इंफेक्शन का खतरा, ऐसे करें उपाय…

बारिश की बूंदें भले ही गर्मी से राहत दिलाने का काम करती हों लेकिन इस ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *