11वे दिन भी Lok Sabha की कार्यवाही स्थगित

विपक्षी पार्टियों तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा), वाईएसआर कांग्रेस, तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) और अन्नाद्रमुक के सदस्यों के भारी हंगामे के कारण Lok Sabha में आज लगातार 11वें दिन प्रश्नकाल नहीं हो सका। जिसके चलते आज की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गयी। वहीँ दूसरी तरफ आंध्रप्रदेश और कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड का गठन करने के मुद्दे को लेकर विपक्ष के हंगामे के चलते 11वे दिन भी राज्यसभा का कामकाज नहीं हो सका।

Lok Sabha बाधित होने से अविश्वास प्रस्ताव भी स्थगित

विपक्ष के हंगामे के चलते एकबार फिर लोकसभा की कार्यवाही पुरे दिन के लिए स्थगित कर दी गयी।

प्रश्नकाल के स्थगित होने के बाद जैसे ही दोपहर में कार्यवाही शुरू हुयी अन्नाद्रमुक और तेलंगाना राष्ट्र समिति के सदस्य अपनी मांगों के समर्थन में बैनर और प्लेकार्ड लेकर अध्यक्ष के आसन के समीप पहुंच गये और नारेबाजी करने लगे। शोरशराबे के बीच ही अध्यक्ष ने जरुरी दस्तावेज सदन पटल पर रखवाये।

सरकार हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार

लोकसभा स्पीकर के कहने पर राजनाथ सिंह ने खड़े होकर कहा कि, ‘जब से बजट सत्र शुरु हुआ सदन की कार्यवाही लगातार बाधित हो रही है।’
उन्होंने कहा कि वह सत्तापक्ष की तरफ से यह कहना चाहते हैं कि सदस्य जो भी मुद्दे उठायेंगे सरकार उस पर चर्चा के लिए तैयार है।.
राजनाथ सिंह ने कहा कि सभी सदस्यों से अपील है कि वे सदन में शांति बनाये रखने में सहयेाग करें ताकि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा हो सके। सरकार को अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस मिल गया है और सरकार इस पर चर्चा के लिए तैयार भी है।

राज्यसभा भी हंगामे की भेंट चढ़ा

राज्यसभा में सभापति एम वेंकैंया नायडु ने सुबह सदन की कार्यवाही शुरु करते हुए मंत्रियों को जरुरी विधायी कागजात पटल पर रखने के निर्देश दिये।
इसके बाद उन्होंने शून्यकाल आरंभ करने का प्रयास किया तो तेलुगू देशम पार्टी, कांग्रेस और द्रमुक तथा अन्नाग्रमुक के सदस्य अपनी अपनी मांगों के समर्थन में नारे लगाते हुए सभापति के आसन के समक्ष आ गये।
कुछ सदस्यों ने अपने हाथो में तख्तियां और पोस्टर ले रखे थे।
सरकार सदन में बहस कराने के लिए तैयार है लेकिन सदस्यों ने सभापति की बातों पर ध्यान नहीं दिया और वे हंगामा करते रहे। सदन में अराजकता की स्थिति देखते हुए राजसभा अध्यक्ष ने पांच मिनट के भीतर ही कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई।

About Samar Saleel

Check Also

लम्बे समय से बीमार चल रहे पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का 66 साल की उम्र में निधन

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का शनिवार को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *