Ram Navami पर केंद्र सरकार ने पश्चिम बंगाल सरकार से मांगी रिपोर्ट

नई दिल्ली। Ram Navami के दिन पश्चिम बंगाल के रानीगंज में हुई हिंसा पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से जवाब मांगा है। गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से पिछले दो दिनों में हुई हिंसा और आगजनी से निपटने के लिए कौन से कदम उठाए गए हैं। इस पर रिपोर्ट देने के लिए कहा है। राज्य की पुलिस व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए गृह मंत्रालय ने कहा कि अब तक सरकार हिंसा को रोकने के लिए क्या काम कर रही है।

Ram Navami, केंद्रीय पुलिस बल रोकेगी हिंसा

गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार से पूछा है कि अगर हिंसा और आगजनी से निपटने के लिए केंद्रीय पुलिस बल की आवश्यकता है तो वह उनकी मदद ले सकती है। इसके साथ गृह मंत्रालय ने ममता बनर्जी से इस पूरे घटनाक्रम की जांच करवाने के लिए कहा है। जिससे हिंसा पर काबू पाया जा सके।

रामनवमीं पर धारदार ह​थियार पर उठा सवाल

रामनवमीं के दिन प्रशासन की ओर से रोक लगाने के बावूजद पुरुलिया जिले में कई लोगों ने धारदार हथियारों के साथ जुलूस निकाला था। रामनवमीं के दिन निकाली गई रैली में नाबालिग लड़के व लड़कियां भगवान राम का नाम जपते हुए तलवार हाथ में लिये हुए थे। इस जुलूस के दौरान दो समूहों के बीच झड़प हो गई और इसने हिंसक घटना का रूप ले लिया। इस घटना में दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई थी और 5 पुलिसकर्मी घायल भी हो गए थे। रैली के बाद से प्रदेश के हालात बिगड़ते चले गए और प्रदेश में जगह-जगह हिंसा होने लगी।

रात में रामनवमी के पंडाल तैयारी के दौरान TMC कार्यकर्ताओं ने किया था हमला

राम नवमी के एक दिन पहले जब पंडाल की तैयारी की जा रही थी। उस दौरान हमले के लिए पहले धमकियां मिली थी। इसके बाद 24 मार्च की रात भाजपा के कार्यकर्ता रामनवमी के लिए पंडाल तैयार कर रहे थे। उस समय कुछ असमाजिक तत्वों ने उनके ऊपर हमला भी कर दिया था। जिसमें भाजपा के चार कार्यकर्ता बुरी तरह घायल हो गए थे। भाजपा ने इस घटना के लिए टीएमसी को जिम्मेदार बताया था।

About Samar Saleel

Check Also

आरटीआइ कार्यकर्ता से आंकड़ा देने के बदले मांगे 20 लाख रूपये

तेलंगाना। आरटीआइ से जुड़ा एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। एक आरटीआइ कार्यकर्ता ने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *