झोला लेकर वसूली पर निकल ते थे एक पार्टी के नेता : योगी आदित्यनाथ

लखनऊ। विधानसभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार के कार्यकाल में एक पार्टी व परिवार के लोग भर्तियों का विज्ञापन निकलते ही झोला लेकर वसूली करने निकल पड़ते थे। जबकि इसके विपरीत उनकी सरकार में पारदर्शी प्रक्रिया से भर्ती की जा रही हैं। आवश्यक विधायी कार्य निपटाने के बाद विधानसभा अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी गई।

विधानपरिषद तीन दिन तक चलने के बाद स्थगित

इससे पहले विधान मंडल के दोनों सदनों में कई विधेयक पारित किए गए गये। उल्लेखनीय है कि इससे पहले विधान परिषद की कार्रवाई गुरुवार को ही अचानक स्थगित कर दी गई थी। यह सदन चार दिन के लिए बुलाया गया था। हालांकि इसके विपरीत विधानसभा की कार्रवाई तो चार दिन चली लेकिन विधानपरिषद कार्रवाई तीन दिन का काम निपटाने के बाद ही स्थगित कर दी गई।

मंत्री आशुतोष टंडन ने अटल बिहारी चिकित्सा विश्वविद्यालय

पारित विधेयकों में उत्तर प्रदेश विनियोग (2018-2019 का द्वितीय अनुपूरक) विधेयक, 2018, अटल बिहारी बाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश विधेयक, 2018, उत्तर प्रदेश माल और सेवा कर (संशोधन) विधेयक, 2018, उत्तर प्रदेश शीरा नियंत्रण (तृतीय संशोधन) विधेयक, 2018 और उत्तर प्रदेश जल संभरण तथा सीवर व्यवस्था (संशोधन) विधेयक, 2018 हैं। चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने अटल बिहारी चिकित्सा विश्वविद्यालय उप्र विधेयक, 2018 पेश किया।

अनुपूरक बजट को हर वर्ग का हितैषी

विधान मंडल के दोनों सदनों में 8054 करोड़ 49 लाख 27 हजार रुपये का अनुपूरक बजट पारित किया जा चुका है। विपक्षी सदस्यों ने अनुपूरक बजट को जुमलेबाजी का बजट और वित्तीय अनुशासनहीनता करार दिया। जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अनुपूरक बजट को हर वर्ग का हितैषी बताया। विपक्ष पर हमलावर योगी ने खासतौर से सपा सदस्यों पर निशाना साधते हुए कहा कि ये लोग हर मुद्दे को तिल का ताड़ बना देते हैं। इनकी षड्यंत्र की मानसिकता गई नहीं,ये कभी सुधर नहीं सकते। इन्हें सुधरने के लिए कई जन्म लेना पड़ेगा।

About Samar Saleel

Check Also

हरियाणा: करनाल में 54 साल की महिला से गैंगरेप, आराेपियों की तलाश जारी

हरियाणा के करनाल में एक 54 साल की महिला के साथ गैंगरेप का मामला सामने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *