गोमती नदी पर बनेगा 42 मी. ऊंचा मेट्रो का पुल

लखनऊ. मेट्रो रेल कारपोरेशन के प्रबंध निदेशक कुमार केशव व डायरेक्टर वक्र्स इंन्फ्राटेक्चर दलजीत सिंह ने नार्थ-साउथ के एलिवेडेट सेक्शन के द्वितीय फेज में चल रहे मेट्रो निर्माण के कार्यों का मौके पर निरीक्षण किया। उन्होंने सबसे पहले केडी सिंह बाबू स्टेडियम के पास बनाये जा रहे मेट्रो स्टेशन के कार्य को देखा। साथ ही मेसर्स संस्था एलएंडटी ने उन्हें चल रहे कार्यों के बारे में अवगत कराया। इसके बाद एमडी, एलएमआरसी व डीडब्लूआई ने सुभाष पार्क परिवर्तन चैक पर चल रहे मेट्रो निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। देखते हुए गोमती नदी के किनारे चल रहे पाइलिंग के काम को देखा। यहां पर नदी के दोनों तरफ  पिलर लगाये जाने के साथ नदी के बीचों बीच दो पिलर बनाये जाने है। इन पिलर की गहराई 42 मीटर की जानी है। इस पर कैटीलीवर स्पैन यानि पुल का निर्माण किया जाना है। जिसकी अनुमानित लंबाई 45 से 48  मीटर तय की गई है। सभी पिलर 15  से 32  मीटर तक की गहराई करके लगायी जा रही है। निरीक्षण करते हुए एमडी व टीम ने विश्वविद्यालय के चैथे नंबर गेट के पास बनने वाले मेट्रो स्टेशन को भी देखा। आईटी कालेज व बादशाह नगर से पालीटेक्निक चैराहे तक के बीच में चल रहे मेट्रो कार्य को देखा। जानकारी के मुताबिक नार्थ साउथ कॉरिडोर के अंदर कुल 21 मेट्रो स्टेशन होंगे। जिसमे हुसैनगंज, सेके्रटीएट, हजरतगंज सहित कुल तीन स्टेशन भूमिगत होंगे। कृष्णनगर दुर्गापुरी, बादशाह नगर, सिंगारनगर सहित कई अन्य ऐलिवेटेड स्टेशन होंगे। कुल 554 पिलर्स केडी सिंह स्टेडियम से मुंशीपुलिया तक लगाये जाने है। जिसमे से अब तक कुल62 पिलर्स लग चुके हैं। जिसमें 32 पियर कैप लगाये जा चुके हैं। वही कुल 338 यूगार्डरर्स केडी सिंह स्टेडियम से मुंशीपुलिया के बीच लगाये जाने है। इसके साथ ही नार्थ साउथ द्वितीय फेज में दो स्पैन बनाया जाना सुनिश्चित किया गया है।

Loading...
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

बिहार: गुस्से में युवक ने कुल्हाड़ी मारकर चार परिजनों को उतारा मौत के घाट

बिहार के सीवान में एक शख्स ने अपने ही परिवार के लोगों पर हमला कर ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *