Breaking News

अंजू का ये सपना रह गया अधूरा, 16 साल पहले पति भी इसी तरह के हादसे का हुआ था शिकार

नेपाल में रविवार को हादसे की शिकार विमान की को-पायलट अंजू खातीवाड़ा ने 16 साल पहले इसी तरह के हादसे में अपने पति को खो दिया था। ये संयोग ही कहा जाएगा कि अंजू के पति भी हादसे के दौरान को-पायलट ही थे। 16 साल पहले 21 जून, 2006 को येती एयरलाइंस का विमान 9N AEQ हादसे का शिकार हुआ था। विमान नेपालगंज से सुरखेट के रास्ते जुमला जाने के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, छह यात्रियों और चालक दल के चार सदस्यों की मौत हो गई थी।

हिमाचल में जोशीमठ जैसे खतरे की आशंका, केंद्र सरकार से राज्य के लिए सुक्खू ने किया ये आग्रह

जानकारी के मुताबिक, हादसे की शिकार को-पायलट अंजू खातीवाड़ा का एक सपना अधूरा रह गया। अंजू खातीवाड़ा पायलट बनने के अपने सपने को साकार करने से कुछ सेकंड दूर थीं। फ्लाइट लैंड होने के बाद उन्हें कप्तान बनाया जाना था। हादसे के दौरान फ्लाइट को सीनियर कैपिटन कमल केसी चला रहे थे।

सुबह करीब 10.30 बजे नयागांव में विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिसमें सभी 72 लोग मारे गए। इनमें 68 यात्री और चालक दल के 4 सदस्य थे। इससे पहले अंजू नेपाल के लगभग सभी हवाईअड्डों पर सफलतापूर्वक लैंड कर चुकी थी।

रविवार को नेपाल के पोखरा में दुर्घटनाग्रस्त हुए यति एयरलाइंस के विमान के मलबे से बचाव दल द्वारा अब तक कुल 68 शव बरामद किए गए हैं। येती एयरलाइंस के मुताबिक, विमान पुराने हवाई अड्डे और पोखरा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के बीच दुर्घटनाग्रस्त हो गया। मारे गए यात्रियों में तीन बच्चे भी शामिल हैं।

नेपाल के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के अनुसार, मृतक यात्रियों में 53 नेपाली नागरिक, पांच भारतीय, चार रूसी, एक आयरिश, एक ऑस्ट्रेलियाई, अन्य शामिल हैं। हादसे में जान गंवाने वाले चार यात्री उत्तर प्रदेश के गाजीपुर के रहने वाले थे।

About News Room lko

Check Also

देहरादून में जनवरी के आखिरी में हो रहा गर्मी का अहसास, अधिकतम तापमान 19.8 डिग्री सेल्सियस

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें देहरादून में जनवरी के आखिरी में फरवरी और ...