Breaking News

कृत्रिम बुद्धिमता शिक्षा में एक वरदान या अभिशाप

लखनऊ। बीएसएनवी पीजी कॉलेज के अर्थशास्त्र विभाग में प्रो गुंजन पांडेय के मार्गदर्शन में 11 अक्टूबर 2023 को “कृत्रिम बुद्धिमत्ता (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) शिक्षा में एक वरदान या अभिशाप है” विषय पर एक वाद-विवाद प्रतियोगिता आयोजित की गई।

कृत्रिम बुद्धिमता शिक्षा में एक वरदान या अभिशाप

छात्रों ने विषय पर पक्ष और विपक्ष में अपने मत प्रस्तुत किए। सत्र के दौरान कई महत्वपूर्ण और प्रासंगिक मुद्दे उठाए गए।पक्ष में रहे छात्रों ने इस बात पर जोर दिया कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बड़ी मात्रा में डेटा का तेजी से विश्लेषण और प्रसंस्करण कर सकता है और स्वास्थ्य क्षेत्र में भी यह आसानी से बीमारियों का निदान और उपचार कर सकता है।

👉हजारों करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं महानायक, हर साल कमाते हैं 60 करोड़

दूसरी ओर जो इसके ख़िलाफ़ थे, उनका ध्यान इस बात पर था कि आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस कैसे सामान्य इंसान का डेटा इकट्ठा करता है और आम जनता के हितों के ख़िलाफ़ उसका दुरुपयोग कर सकता है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस स्वचालित प्रक्रिया होने के कारण लोगों की नौकरियों को खोने के साथ-साथ उनकी गोपनीयता और नागरिक स्वतंत्रता भी समाप्त कर रहा है।

कृत्रिम बुद्धिमता शिक्षा में एक वरदान या अभिशाप

इसमें मानवीय स्पर्श और भावनात्मक झुकाव की कमी है जिससे आम लोगों के बीच दूरियां पैदा हो जाएंगी। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो सीएल बाजपेयी ने की और निर्णायक मंडल में प्रो नीरजा मिश्रा, डॉ प्रणब कुमार मिश्रा और डॉ उमेश सिंह थे। उन्होंने विद्यार्थियों को अपने बहुमूल्य सुझावों से अवगत कराया और विषय पर अमूल्य विचार प्रस्तुत करके विद्यार्थियों को लाभान्वित किया। 20 छात्रों ने भाग लिया और प्रथम स्थान के विजेता बीए तृतीय वर्ष के भूपेन्द्र शर्मा थे।

👉गगनयान अपनी पहली उड़ान को तैयार, 21 अक्टूबर को होगी पहली परीक्षण उड़ान

कृत्रिम बुद्धिमता शिक्षा में एक वरदान या अभिशाप

दूसरे स्थान पर बीए द्वितीय वर्ष के अर्पित उपाध्याय थे, तृतीय स्थान बीए प्रथम वर्ष की नमरा अहमद, यश सिंह तथा बीए द्वितीय वर्ष के रंजीत सिंह ने प्राप्त किया, सांत्वना पुरस्कार सायमा खान, बीए प्रथम वर्ष की छात्रा को प्राप्त हुआ। कार्यक्रम का संचालन अर्थशास्त्र विभाग के प्रो गुंजन पांडेय की अध्यक्षता में प्रो नीरजा मिश्रा, रश्मी शुक्ला और अरानी दत्ता के सहयोग से किया गया।

About Samar Saleel

Check Also

लुम्बा के छात्रों ने सीखे उद्यमिता के मूलमंत्र

लखनऊ विश्वविद्यालय के व्यापार प्रशासन विभाग के चाणक्य सभागार में दिनांक 23-2-24 को आईआईएम लखनऊ ...