Breaking News

सामुदायिक स्वास्थ्य सेवाएं देने वाली कार्यकर्ता आशाओं को भी मिलेगा आयुष्मान योजना का लाभ

जिले की 2658 आशा एवं संगिनियों के परिवार को मिलेगा पांच लाख तक का निःशुल्क उपचार

सुल्तानपुर। घर-घर जा कर स्वास्थ्य सेवा देकर समुदाय की स्वास्थ्य की नीव को मज़बूत करने वाली आशा कार्यकर्ताओं के लिए अच्छी खबर है। अब आशा और आशा संगिनी दोनों को आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य लाभ दिया जायेगा। इसके लिए मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की ओर से सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को पत्र जारी कर दिया गया है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. धर्मेन्द्र कुमार त्रिपाठी ने कहा कि आशा कार्यकर्ता समुदाय को स्वास्थ्य सेवाएं पहुँचाने वाली सबसे पहली कार्यकर्ता है। ऐसे में सरकार ने उन्हें भी आयुष्मान योजना के तहत निःशुल्क स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ देने का निर्णय लिया है। इसके लिए मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की ओर से निर्देश भी दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना परिवार आधारित योजना हैं. इसके तहत योजना से जुड़ने के बाद योजना से आच्छादित ग्रामीण एवं शहरी आशा एवं आशा संगिनी के परिवारों को प्रति परिवार पांच लाख रुपये तक के निःशुल्क उपचार की सुविधा मिलेगी। पात्र परिवार के सभी सदस्य योजना का लाभ ले सकते हैं।

आयुष्मान योजना की जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ. श्रेया ने बताया कि योजना का संचालन भारत सरकार के सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जा रहा है, इसमें लाभार्थी परिवारों का डाटा फीड किया जाता है। डाटा संकलन के बाद लाभार्थी परिवारों की संख्या को योजना में शामिल करने के अनुमोदन के लिए भेजा जायेगा, इसके बाद शासनादेश निर्गत किया जायेगा। इस सम्बन्ध में पीएम-जेएवाई स्टेट हेल्थ एजेंसी (साचीज़) द्वारा उपलब्ध प्रारूप पर आशा संगिनियों के सहयोग से सूचना एकत्र की जा रही है, जो आगे राज्य स्तर पर भेजी जाएगी।

जिला सामुदायिक स्वास्थ्य प्रबंधक अनिल कुमार ने बताया कि जिले में 50 शहरी और 2483 ग्रामीण क्षेत्र की आशा व 125 आशा संगिनी कार्यरत हैं। इन सभी को आयुष्मान योजना में शामिल करने के लिए डाटा एकत्र किया जा रहा है, जल्द ही डाटा राज्य स्तर पर भेज दिया जायेगा, इसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

अर्बन आशा कार्यकर्त्ता किरण वर्मा ने कहा कि गंभीर बीमारियों के महंगे उपचार के लिए हमें भी सोचना पड़ता था, हमें आयुष्मान योजना से जोड़ना अच्छा निर्णय है, इससे हमारे परिवारों को भी गंभीर बीमारियों के खर्च के लिए चिंता नहीं करनी पड़ेगी। आशा कार्यकर्त्ता सत्यमा ने कहा हम लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराते हैं, पर अक्सर हमारे परिवारों को भी गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ता है, जिसके इलाज के लिए पैसे जुटाना हमेशा ही बड़ा मुश्किल होता है, आयुष्मान योजना से जुड़कर हमारे परिवारों को भी बिना खर्च के उपचार का लाभ मिल सकेगा।

रिपोर्ट – शिव प्रताप सिंह सेंगर 

About Samar Saleel

Check Also

आज़मगढ़ चुनाव : निरहुआ की जीत से नए स्थानीय राजनीतिक समीकरण आये सामने

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Sunday, June 26, 2022 लखनऊ। आजमगढ ...