Breaking News

कर्मभूमि में विसर्जित हुई अटल जी की अस्थियां

लखनऊ।अटल जी की कर्मभूमि लखनऊ उनको हमेशा याद करेगी। यही कारण है कि गुरुवार को जब उनकी अस्थियां यहां पहुंची तो उनको श्रद्धांजलि देने के लिये मानो पूरा शहर उमड़ पड़ा। अमौसी से जैसे ही भारत रत्न व पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थि कलश यात्रा शुरू हुई वैसे ही ‘अटल बिहारी अमर रहे और ‘वंदे मातरम के गगनभेदी नारों से पूरा माहौल गूंज उठा।

अटल जी की कर्मभूमि को

अटल जी की कर्मभूमि को उनकी अस्थियों के रूप में ही नमन करने लोग पैदल ही चल दिये। कलश यात्रा में लोगों का सैलाब उमड़ पड़ा। महिलाएं, बुजुर्ग, युवा ही नहीं मंत्री, विधायक और तमाम वरिष्ठ नेता यात्रा में पैदल चल पड़े। अपार हृदय और महान व्यक्तित्व को अपने श्रद्धासुमन अर्पित करने के लिये सुबह से ही मार्गों के दोनों तरफ जुटने लगे थे। इस बीच हुई तेज वर्षा भी लोगों के समर्पण को कम नहीं कर पाई। चौराहों और सड़कों पर व्यापारियों और क्षेत्रीय नागरिकों की ओर से श्रद्धांजलि के लिये पंडाल लगवाए थे।

गुलाब की पंखुड़ियों को अस्थियों पर न्योछावर करने के लिये रखा गया था। इससे पहले लखनऊ से कई बार सांसद रह चुके दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां भारी बारिश के बीच विशेष विमान से लखनऊ पहुंच गईं। अमौसी एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री योगी और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने अस्थि कलश ग्रहण किया। उनके साथ अटल जी की पुत्री नमिता समेत अन्य परिजन भी मौजूद रहे। अमौसी एयरपोर्ट पर ही राज्यपाल रामनाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अटल जी को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद यहां से रथ में अस्थि कलश को विराजित कर यात्रा निकाली गई है।

Loading...

भाजपा जपा प्रदेश कार्यालय पर अस्थि यात्रा

अपने वरिष्ठ नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की यादों को अपने दिलों में समेटे उनके सहयोगी मंत्री और विधायक आज उनके अस्थि कलश पर श्रद्धासुमन करने के लिये इंतजार कर रहे थे। जैसे ही भाजपा प्रदेश कार्यालय पर अस्थि यात्रा पहुंची वे बिना किसी भेदभाव के अपनी सुरक्षा को ताक पर रखकर भीड़ में पैदल ही निकल पड़े। कैबिनेट मंत्री डॉ. रीता बहुगुणा जोशी हो या ब्रजेश पाठक, मंत्री मोहसिन रजा, सांसद साक्षी महाराज, विधायक पंकज सिंह, जगदम्बिका पाल, उपेन्द्र तिवारी जैसे बड़े-बड़े नेता अस्थि कलश के पीछे-पीछे इस यात्रा में शामिल हुए।

 

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

डैमेज कंट्रोल और नागपुर अधिवेशन की रणनीति पर मंथन

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर हो सकता है. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) चीफ शरद ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *