Breaking News

गरीब परिवारों के लिए संजीवनी बनी आयुष्मान योजना

इलाज के अभाव से जूझने वालों को मिल रहा है बेहतर उपचार।

योजना के तहत श्यामा की पित्त की थैली में पथरी का हुआ मुफ्त इलाज।

औरैया। मजदूरी करके परिवार का भरण-पोषण करने वाली श्यामा का परिवार कल तक चिंता में डूबा था। श्यामा के पित्त की थैली में पथरी थी और इलाज कराने को पैसा नहीं था। लेकिन अब इस परिवार की मुश्किलें हल हो गई है। केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत -प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से श्यामा का शहर के रमा नर्सिंग होम में बगैर पैसा खर्च किए सफल ऑपरेशन हुआ है। गरीब परिवारों के लिए योजना वरदान साबित हो रही है। गंभीर बीमारियों से जूझने वाले मरीजों का मुफ्त में उपचार हो रहा है। जिससे इन परिवारों की खुशियां लौट आई है।

जनपद के चिरौली क्षेत्र की निवासी श्यामा बताती है कि उन्हें पित्त की थैली में पथरी की शिकायत थी। इलाज कराने को पैसा नहीं था। घर मजदूरी से चलता है। इसलिए चिंता में डूबा रहता था। गाँव की आशा से योजना के बारे में पता चला तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क किया। तब कहीं जाकर पता चला कि वह भी इस योजना का पात्र है। कार्ड बनवाकर रमा नर्सिंग होम में भर्ती हुई जहां अप्रैल 2022 में उनका सफल ऑपरेशन हुआ है। अब इनकी स्थिति पहले से बेहतर है।

अस्पतालों के चयन में भी सावधानी बरतें – सीएमओ डॉ अर्चना श्रीवास्तव ने बताया कि लाभार्थी मरीज इस योजनांतर्गत चयनित किए गए किसी भी अस्पताल में सीधे जाकर अपनी फैमिली आईडी/आधार कार्ड दिखाकर नि:शुल्क इलाज करा सकते है। लेकिन लाभार्थियों के लिए अधिक सुविधाजनक यही होगा कि यदि किसी प्रकार की इमरजेंसी न हो तो वह पहले अपने नजदीकी राजकीय स्वास्थ्य केंद्र, जिला अस्पताल, मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में संपर्क करें एवं वहां तैनात आयुष्मान मित्र से परामर्श लेकर अपनी सुविधानुसार उचित अस्पताल में उपचार कराएं। आबद्ध किए गए अस्पतालों में उनकी क्षमता के आधार पर अलग-अलग बीमारियों का इलाज उपलब्ध है। कभी-कभी मरीज ऐसे अस्पतालों में चले जाते हैं जो योजना के लिए आबद्ध तो है, मगर वहां उस बीमारी का उपचार नहीं होता। फिर ऐसे में शिकायतें आती है।

टोल फ्री नंबर का भी करें प्रयोग – आयुष्मान योजना के अंतर्गत कार्डधारकों को अगर उपचार कराने में किसी किस्म की कोई दिक्कत आ रही है तो वो टोल फ्री नंबर 1800 1800 4444 पर कॉल कर सकते है। इस नंबर पर कॉल करने के साथ ही मरीज की समस्याओं का समाधान होना शुरू हो जाता है।

यह होगा लाभ : आयुष्मान भारत योजना के नोडल अधिकारी व एसीएमओ डॉ सलभ मोहन ने बताया कि योजना से जुड़ जाने के बाद पात्र लाभार्थी को किसी भी बीमारी का इलाज भर्ती होकर करवाने पर संबद्ध अस्पतालों में पांच लाख रुपये प्रति लाभार्थी परिवार का निःशुल्क इलाज मिल सकेगा । योजना के तहत जिले में पहले से ही करीब 8,293 लाख पात्र लाभान्वित हो चुके हैं। इन लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड के जरिये संबद्ध निजी और सरकारी अस्पताल में भर्ती होकर पांच लाख तक का इलाज करवाने की सुविधा उपलब्ध है।

रिपोर्ट – शिव प्रताप सिंह सेंगर

About Samar Saleel

Check Also

आज़मगढ़ चुनाव : निरहुआ की जीत से नए स्थानीय राजनीतिक समीकरण आये सामने

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Sunday, June 26, 2022 लखनऊ। आजमगढ ...