पाकिस्तान के पूर्व राजनयिक का बड़ा खुलासा, कहा-बालाकोट एयर स्ट्राइक में मारे गए थे 300 लोग

भारत के बालाकोट एयर स्ट्राइक (Balakot Airstrike) को लेकर शैतान पाकिस्तान की दुनिया के सामने फिर पोल खुली है। इसबार किसी और ने नहीं बल्कि पाकिस्तान के पूर्व राजनयिक आगा हिलाली (Aga Hilali) ने ही पाक की पोल खोली है। भले ही पाकिस्तान भारत के बालाकोट एयर स्ट्राइक में किसी भी नुकसान से इनकार कर रहा हो लेकिन अब उसके ही पूर्व राजनयिक आगा हिलाली ने एक टीवी शो में उसके दावे की पोल खोल दी। उन्होंने कहा कि इस एयर स्ट्राइक में उसके 300 आतंकी मारे गए थे।

टीवी शो में आगा हिलाली ने कहा कि ‘भारत ने 26 फरवरी, 2019 को अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करके युद्ध जैसा काम किया और इसमें कम से कम 300 आतंकी मारे गए थे। लेकिन हमने उनका जवाब देने के बजाय उनके बड़े अधिकारियों को निशाना बनाने की कोशिश की। हमारा यह कदम पूरी तरह वैध भी था क्योंकि हमारा टारगेट भारत के सेनाधिकारी थे। हमने उस समय कहा था कि इस कार्रवाई में कोई हताहत नहीं हुआ। अब हमने उनसे कहा है कि वे जो भी करेंगे हम सिर्फ उसका जवाब देंगे।’

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने 26 फरवरी 2019 को POK के बालाकोट में आतंकियों को मार गिराया था। पाकिस्तान ने एयर स्ट्राइक को झूठा साबित करने और बालाकोट में कोई नुकसान नहीं होने का दावा करने के लिए कई अंतरराष्ट्रीय मीडिया का भी दौरा कराया था।

Loading...

पाकिस्तानी सरकार ने तो ये कहकर बालाकोट में की गई भारतीय कार्रवाई का मजाक उड़ाया था कि इस कार्रवाई में कुछ परिदों और पेड़ों को नुकसान पहुंचा है। लेकिन अब करीब दो साल बाद उसी के पूर्व राजनयिक आगा हिलाली ने उसकी पोल खोल दी है और बताया कि बालाकोट हमले में करीब 300 आतंकवादी मारे गये थे।

आपको बता दें कि 14 फरवरी 2019 को आतंकवादियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था। जिसमें 40 जवान शहीद हो गये थे. उस हमले के ठीक 12वें दिन में भारतीस वायु सेना ने पीओके पार जाकर बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया और भारी तबाही मचाया। उस एयर स्ट्राइक में जैश-ए-मोहम्मद के कई आतंकी ठिकानों को नुकसान हुआ था।

Loading...

About Ankit Singh

Check Also

बलूचिस्तान प्रांत में फिर हुआ बम ब्लास्ट, 11 सैनिक हुए घायल

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि दक्षिण-पश्चिम बलूचिस्तान ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *