Breaking News

Brahmos Supersonic क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण, रक्षामंत्री ने दी बधाई

डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) व रूस के वैज्ञानिकों ने आज ओडिशा तट पर चांदीपुर में Brahmos Supersonic ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण क‍िया। मिसाइल के परीक्षण के मौके पर डीआरडीओ एवं आईटीआर से जुड़े कई वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अधिकारी मौजूद थे।

Brahmos Supersonic :रक्षामंत्री ने ट्वीट कर दी बधाई

10 बजकर 40 मिनट पर ओड‍िशा तट के चांदीपुर आईटीआर के एलसी-3 से Brahmos Supersonic का परीक्षण सफल रहा। अध‍िकारि‍यों की मानें तो इस मिसाइल की कार्यअवधि को 10 से 15 वर्षों तक बढ़ाने की वजह से इसका परीक्षण क‍िया गया है।यह भारत के ल‍िए एक बड़ी उपलब्‍ध‍ि है। मिसाइल के परीक्षण के मौके पर डीआरडीओ एवं आईटीआर से जुड़े कई वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अधिकारी मौजूद थे।

सफल परीक्षण को लेकर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से भी ट्वीट क‍िया गया है। इसमें इन्‍होंने बालासोर में सफल परीक्षण के लिए टीम ब्रह्मोस और डीआरडीओ को बधाई दी। इसके साथ ही उन्‍होंने अपने एक दूसरे ट्वीट में ल‍िखा क‍ि इस सफल परीक्षण से भारतीय सशस्त्र बलों की ल‍िस्‍ट शामिल मिसाइलों की प्रतिस्थापन लागत में काफी कमी आएगी।

  • ब्रह्मोस एक सुपर सोनिक क्रूज मिसाइल है।
  • यह घनी शहरी आबादी में भी छोटे लक्ष्यों को सटीकता से भेदने में सक्षम है।
  • सुपर सोनिक क्रूज मिसाइल आवाज की गति से भी 2.8 गुना तेज जाने की क्षमता रखती है।
  • यह मिसाइल 8.4 मीटर लम्बी तथा 0.6 मीटर चौड़ी है।
  • इसका वजन 3 हजार किलोग्राम है।
  • जमीनी लक्ष्य को 10 मीटर की ऊंचाई तक से भेदने वाली म‍िसाइल भारतीय सेना में 2007 से इस्‍तेमाल की जा रही है।
  • इसकी खास‍ियत यह है क‍ि इस मिसाइल को किसी भी दिशा में लक्ष्य की तरफ मनचाहे तरीके से छोड़ा जा सकता है।
  • इतना ही नहीं यह म‍िसाइल पानी के जहाज, हवाई जहाज, जमीन एवं मोबाइल लंचर से भी आसानी से छोड़ी जा सकती है।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

दिल्ली में लगी भीषण आग, अब तक 45 की मौत

नई दिल्ली। दिल्ली के फिल्मिस्तान इलाके में रानी झांसी रोड के पास अनाज मंडी में ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *