Breaking News

ऑनलाइन गूंजे राम भजन और मानस की चैापाइयां

लखनऊ। नवरात्र की पावन बेला पर राष्ट्रीय पुस्तक मेला समिति और लखनऊ पुस्तक मेला समिति की ओर से संयुक्त रूप से आयोजित प्रतियोगिताओं के क्रम में आज देवी गीतों के संग ही मधुर भजनों की गूंज उठी।

तीसरे दिन आज ज्योति किरन रतन के संयोजन मे कृतिका सोनी ने भजन- कौन कहता है की भगवान आते नहीं….सुनाया तो वर्तिका ने-कभी राम बन के कभी श्याम बन के चले आना प्रभु जी…. भक्तिभाव के संग गाया। सम्भावी ने खुद का बनाया मां दुर्गा के दिव्य स्वरूप का चित्र भेजा। पूर्विका की रचना लंकाधीश पर थी जबकि काव्या का चित्र नवरात्र सम्बंधित था।

नैतिक श्रीवास्तव ने मां चन्द्रघण्टा के स्वरूप को रंगों में उतारा था तो शालिनी ने देवी का कन्या स्वरूप चित्रित किया। सुकृति ने पारम्परिक परिधान में सजकर देवी स्वरूप में फोटो भेजी। ज्योति खरे ने सजी हुई सुंदर माता की चैकी भेजी। अदिति ने सिंहासन पे बैठे श्रीराम चरणों में हनुमान को दिखाया, साथ ही मानस की चैापाईयों पर आधारित गीत- मंगल भवन अमंगल हारी….. गाया। इसी तरह अन्य प्रतिभागियों ने भी भजन प्रस्तुत किये।

Loading...

प्रतियोगिताओं के बारे में मेला समिति के मनोज सिंह चंदेल ने बताया कि बच्चों गायन, वादन, नृत्य, पौराणिक कहानी , चित्रकला, फैंसी पारम्परिक ड्रेस आदि के साथ दूसरे चरण में नवरात्र पर कलश सज्जा, रंगोली, पकवान, देवीगीत व भजन गायन, परिधान के संग देवी रूप धारण इत्यादि की प्रतियोगिताएं सम्मिलित हैं।

इन प्रतियोगिताओं में 05 से 10 वर्ष, 11 से 15 वर्ष व 16 से 20 वर्ष आयुवर्ग के बच्चों के संग ही हर आयुवर्ग की महिलाओं का महिला वर्ग भी शामिल किया गया है। प्रतियोगी प्रतियोगिताओं के बारे में मोबाइल नम्बर-9415910781 में जानकारी ले सकते हैं। प्रतिभागियों को अपनी क्लिप फंक आर्ट बाई हार्ट या स्टूडेण्ट आर्ट बाई हार्ट फेसबुक पेज पर शेयर कर सकते हैं।

शाश्वत तिवारी
शाश्वत तिवारी
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

जनपदों में घूमकर करते थे दुकानों की रेकी, रात में करते थे चोरी

रायबरेली। शहर कोतवाली क्षेत्र के कैपरगंज के पास चोरी की योजना बना रहे अंतरराज्यीय चोरों ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *