Breaking News

पपेट शो और जादू के माध्यम से मानसिक स्वास्थ्य के प्रति बच्चों को किया जागरूक

• मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता सप्ताह के अवसर पर आयोजित हुए कार्यक्रम
• बच्चो की कला प्रतियोगिता आयोजित, विजेता हुए पुरस्कृत

कानपुर। मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता सप्ताह के अवसर पर ऑक्सफोर्ड मॉडल स्कूल, बर्रा में स्वास्थ्य विभाग की ओर से मानसिक स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता के लिए कार्यक्रम आयोजित किये गए। कार्यक्रम में बच्चों को वर्तमान में कोविड- 19 के हालात और ऑनलाइन क्लासेज के कारण जीवन में आये तनाव और बदलाव से निपटने के गुण भी सिखाये गए।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नैपाल सिंह ने निर्देशन में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गैर संचारी रोग के अन्तर्गत ऑक्सफ़ोर्ड मॉडल स्कूल, बर्रा में बच्चों के लिए कार्यक्रम आयोजित किये। मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता सप्ताह के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने स्कूल में पपेट शो और जादू शो के माध्यम से सभी बच्चों को मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी विभिन्न समस्याओं और उनसे बचाव की जानकारी दी। इस अवसर पर स्कूल के डायरेक्टर राजीव शर्मा व उनकी पत्नी प्रियंका शर्मा, गैर संचारी रोग प्रकोष्ठ से निशांत निगम, प्रियंका दुबे, वंदना यादव, मनीष शर्मा व स्कूल के अध्यापक और विद्यार्थी कार्यक्रम में शामिल हुए।

गैर संचारी रोग प्रकोष्ठ से निशांत निगम ने बच्चों को आज की जीवन शैली और मानसिक स्तिथि पर पड़ने वाले प्रभाव के प्रति संवेदित किया और उन्हें ऑनलाइन पढ़ाई और अन्य तनाव की स्थितियों से स्वयं को बचाने के लिए सुझाव दिए । कार्यक्रम के अन्तर्गत कक्षा 5 से 9 के विद्यार्थियों के लिए मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता पर चित्रकला प्रतियोगिता भी आयोजित की गई जिसमें 140 बच्चों के भाग लिया। चित्रकला प्रतियोगिता में सातवी कक्षा से अक्षरा प्रथम, आठवीं कक्षा से रिषभ द्वितीय और शांभवी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। गैर संचारी रोग प्रकोष्ठ से प्रियंका दुबे और वंदना यादव ने माध्यमिक कक्षा के बच्चों को तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम की जानकारी भी दी और बच्चों को उनके अभिभावकों से तम्बाकू छोड़ने के लिए प्रेरित करने के लिए भी बताया।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी और गैर संचारी रोग के नोडल अधिकारी डॉ. महेश कुमार ने मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता सप्ताह पर कहा कि गैर संचारी रोगों के अन्तर्गत मानसिक स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। ख़ासकर विद्यार्थियों और बच्चों पर इस समय कोरोना के कारण लम्बे समय बाद फिर पढ़ाई का दबाव है। इसमें ऑनलाइन क्लासेज के कारण देर तक एक ही जगह पर बैठने और कम शारीरिक क्रिया के कारण बदलाव आया है। आवश्यकता है कि घर और स्कूल दोनों जगह बच्चों को सहयोग मिले ताकि वह पुनः सामान्य जीवन में लौट सकें।

 शिव प्रताप सिंह सेंगर

About Samar Saleel

Check Also

LJA की लखनऊ इकाई के चुनाव हेतु दूसरे दिन भी भरे गए फार्म

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। लखनऊ जर्नलिस्ट एसोसिएशन की लखनऊ इकाई के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *