Breaking News

भोजन और नाश्ते में देसी घी का सेवन करने से दिमाग होगा तेज़

देसी घी का उपयोग भारत में वैदिक काल के पूर्व से होता आ रहा है। पूजा पाठ मे घी का उपयोग अनिवार्य है। अनेक औषधियों के निर्माण में देसी घी काम आता है। मक्खन और घी मानव आहार के अत्यावश्यक अंग हैं। इनसे आहार में पौष्टिकता आती है ओर भार की दृष्टि से सर्वाधिक ऊर्जा उत्पन्न होती है।

 

– आपको बता दें कि देसी गाय के घी से दिमाग तेज होता है. इसी के साथ ऐसा गायों की अलग-अलग प्रजाति और उनके दूध से मिलने वाले अलग-अलग गुणों के कारण होता है.

– बहुत कम लोग जानते हैं देसी गाय का घी हमारे दिमाग को तेज और कुशाग्र बनाता है. इसके अलावा जर्सी गाय और भैंस का दूध हमारे शरीर को बलवान बनाने का काम करता है इसका मतलब है मसल्स बनानी हैं तो भैंस के दूध और घी का उपयोग करना चाहिए.

– आप नहीं जानते होंगे दोनों समय के भोजन और नाश्ते में भी मध्यम मात्रा में देसी घी का उपयोग किया जा सकता है. लेकिन जिन लोगों को हार्ट, शुगर या कोई अन्य गंभीर रोग है, उन्हें अपनी डायट में किसी भी नई चीज को शामिल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लेनी चाहिए.

About News Room lko

Check Also

बच्चों को जल्दी-जल्दी में जैम ब्रेड खिलाती है तो हो जाएं सावधान

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें बच्चे हमेशा खाना खाने में आनाकानी करते रहते ...