Breaking News

गैंगस्टर हिमांशु उर्फ भाऊ गैंग का एक्टिव मेंबर को स्पेशल सेल ने दबोचा, हरियाणा के मर्डर में था वांटेड

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने हरियाणा के मर्डर में वांटेड गैंगस्टर हिमांशु उर्फ भाऊ गैंग के एक्टिव मेंबर को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने उसके पास से पॉइंट 32 बोर का पिस्टल और पांच जिंदा कारतूस बरामद किया है.

नई दिल्ली: स्पेशल सेल की पुलिस टीम ने हरियाणा के झज्जर में हत्या के सनसनीखेज मामले में वांटेड बदमाश को गिरफ्तार किया है. आरोपी की पहचान विक्की उर्फ सोनू के रूप में हुई है. यह गैंगस्टर हिमांशु उर्फ भाऊ गैंग का एक्टिव मेंबर है. स्पेशल पुलिस कमिश्नर एच जी एस धालीवाल ने बताया कि इस बदमाश के पास से पॉइंट 32 बोर का पिस्टल और पांच जिंदा कारतूस बरामद किया गया है. साथ ही पुलिस ने उसके पास से एक मोबाइल भी जब्त किया है.

पूछताछ में पता चला कि यह पहले से पांच आपराधिक मामलों में शामिल रहा है. डीसीपी नॉर्दर्न रेंज राजीव रंजन सिंह की देखरेख में एसीपी ललित मोहन नेगी, हृदय भूषण, इंस्पेक्टर सतीश राणा और मनोज कुमार की टीम ने इसके बारे में पता लगाया और फिर जानकारी मिलने पर इसे ट्रैप लगाकर गिरफ्तार किया.

पुलिस के अनुसार गिरफ्तार बदमाश विक्की से पता चला कि यह पहले से हरियाणा के रोहतक और झज्जर थाना इलाकों के पांच मामलों में शामिल रहा है. इसके पिता आर्मी से रिटायर्ड हैं और इसने मात्र 12वीं तक की पढ़ाई की. उसके बाद यह अपने चचेरे भाई हिमांशु उर्फ भाऊ के संपर्क में आकर अपराधी गतिविधियों में जुड़ गया.

अपने दो और साथियों के साथ मिलकर इसने पोस्टमैन से पेंशन के पैसे को लूट लिया था. जिस मामले में यह गिरफ्तार होने के बाद 9 महीने जेल में रहा. बाहर आने के बाद कई और मामलों में शामिल हो गया, जिसमें हत्या और हत्या के प्रयास के मामले भी शामिल हैं. पारिवारिक दुश्मनी के चक्कर में सनी नाम के शख्स पर फायरिंग की गई जिसमें वह किस्मत से बच गया और मौके से फरार हो गया.

उसके बाद सनी ने बदला लेने के लिए हिमांशु उर्फ भाऊ के रिलेटिव रोहित पर हमला करके उसकी हत्या कर दी. उस मामले में गिरफ्तार हो गया और अगस्त में वह बेल पर जेल से छूटकर बाहर आया. फिर जब इसकी जानकारी विक्की को पता चली तो उसने हिमांशु और साहिल के साथ मिलकर सोनू की हत्या करने की प्लानिंग की. पिछले महीने 23 अगस्त को प्लान करके सनी पर गोलियां चला दी.

जिसमें दुजाना गांव के पास स्थित झज्जर कोर्ट से जब सनी लौटकर वापस अपने घर जा रहा था, उस समय हमला किया. लेकिन इस हमले में सनी अपने सहयोगियों के साथ भागने में सफल रहा, लेकिन सनी के दोस्त अनीश की गोली मारकर हत्या कर दी और उसके दो साथी गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर 40 से ज्यादा गोलियां चलाई गई थी.

About News Desk (P)

Check Also

नेवल एनसीसी कैडेटों ने परेड निकालकर मनाया 25वें कारगिल दिवस का स्मरणोत्सव

लखनऊ। कारगिल विजय दिवस के 25वें वर्षगांठ के उपलक्ष्य पर एनसीसी द्वारा आयोजित किये जा ...