Breaking News

गोदरेज लॉक्स 52 हफ़्तों में 52 स्थानों को सुरक्षा प्रदान करेगा

मुंबई। विश्वास, गुणवत्ता और सुरक्षा का पर्याय बन चुके ब्रांड, गोदरेज लॉक्स ने 15 नवंबर को होम सेफ्टी डे मनाया। इस दिन हर वर्ष यह दिवस मनाया जाता है। इस दिवस के उपलक्ष्य में, गोदरेज लॉक्स ने इस साल के अभियान #GoLiveFreely के अनुरूप ‘लीव सेफ, लीव फ्री’ प्रोग्राम की घोषणा की। उक्त अभियान के अंतर्गत ब्रांड द्वारा 10 सबसे असुरक्षित शहरों में 52 सप्ताह में 52 स्थानों पर घर की सुरक्षा हेतु जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। होम सेफ्टी डे पर ‘हर घर सुरक्षित’ अभियान की चौथी वर्षगांठ भी है। #गोदरेज_लॉक्स ने लोगों को घर की सुरक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए यह देशव्यापी जन-जागरूकता अभियान चलाया था।

ब्रांड ने नागरिकों को उनके घर की सुरक्षा के प्रति सचेत करने और डकैती एवं चोरी/सेंधमारी के खतरों से सुरक्षित रहने के लिए प्रोत्साहित करने की आवश्यकता महसूस की। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के अनुसार, वर्ष 2021 में, 2020 की तुलना में आवासीय परिसरों के भीतर चोरी, डकैती और सेंधमारी के मामलों में लगभग 17% की वृद्धि दर्ज की गई। इसी तरह के संदर्भ में, यह ब्रांड भारत के शीर्ष दस असुरक्षित शहरों, दिल्ली, मुंबई, भुवनेश्वर, जयपुर, लखनऊ, बैंगलोर, चंडीगढ़, भोपाल, अहमदाबाद और पटना में 52 स्थानों की पहचान करेगा। इस पहल के साथ, गोदरेज लॉक्स लोगों के साथ जुड़कर और उन्हें सुरक्षा समाधानों तक सीधी पहुंच प्रदान करके घर की सुरक्षा को लेकर अपनी स्थिति को मजबूत करने का इरादा रखता है।

इस ब्रांड ने मुंबई के पुलिस उपायुक्त पुरुषोत्तम कराड और लोकप्रिय शो ‘सीआईडी’ के रील लाइफ पुलिस इंस्पेक्टर दयानंद शेट्टी की उपस्थिति में अपनी घर सुरक्षा पहल की घोषणा की। एक पैनल चर्चा में, मेहमानों ने इस बात पर जोर दिया कि कैसे ताले घर की सुरक्षा का सबसे विश्वसनीय तत्व हैं और फिर भी अक्सर इन्हें नजरअंदाज कर दिए जाते हैं। इस कार्यक्रम में निवासियों के लिए डकैती और चोरी/सेंधमारी जैसे खतरों से खुद को सुरक्षित रखने के लिए निवारक उपाय भी प्रदर्शित किए गए।

गोदरेज लॉक्स के बिजनेस हेड, श्याम मोटवानी ने कहा, “इस होम सेफ्टी डे पर, हमें ‘लीव सेफ, लीव फ्री’ पहल की घोषणा करते हुए प्रसन्नता हो रही है। इस पहल का उद्देश्य डकैती के अत्यधिक मामले दर्ज किए जाने वाले 52 इलाकों की पहचान करके पूरे भारत में सुरक्षा चिंताओं को दूर करना है। सुरक्षा के पर्याय बन चुके एक लीगेसी ब्रांड के रूप में, गोदरेज लॉक्स इन इलाकों के निवासियों के लिए निःशुल्क होम सेफ्टी असेसमेंट (घर सुरक्षा आकलन) आयोजित करेगा और उनके घरों की सुरक्षा की शक्ति मापेगा। यह अनूठी पेशकश नागरिकों को सुरक्षा मानकों को मापने और घर की सुरक्षा में किसी भी खामी को दूर करने के लिए एहतियाती उपाय करने में सहायता देगी। इस पहल का उद्देश्य उन प्रमुख क्षेत्रों तक पहुंचना है जहां घर की सुरक्षा बेहतर करने और इसके बारे में जागरूकता पैदा करने की वास्तविक आवश्यकता है। इसलिए, हमारी प्रतिबद्धता 52 सप्ताह की समय सीमा के भीतर इन क्षेत्रों की सुरक्षा करना है।”

उन्होंने आगे बताया, “घरों की लूट और सेंधमारी आम जनता के लिए गंभीर चिंता का विषय बनी हुई है। एनसीआरबी के अनुसार, 2020 से डकैतियों की दर में 17% की चिंताजनक वृद्धि हुई है। घर की सुरक्षा से जुड़े एक जिम्मेदार और विश्वसनीय ब्रांड के रूप में, हमने ‘हर घर सुरक्षित’ के बैनर तले जागरूकता पैदा करके प्रत्येक भारतीय को उनके घर की सुरक्षा के प्रति जागरूक करने की जिम्मेदारी उठाई है, और हम भविष्य में भी ऐसा करना जारी रखेंगे।”

प्रसिद्ध सीरीज सीआईडी के टेलीविजन स्टार, दयानंद शेट्टी ने कहा, “ऑन – स्क्रीन कानून प्रवर्तन अधिकारी की भूमिका निभाने से मुझे अपने और हमारे परिवारों के लिए सुरक्षा के महत्व की मजबूत समझ मिली है। मैं गोदरेज लॉक्स की पहल की सराहना करता हूं और ‘हर घर सुरक्षित’ का हिस्सा बनकर उत्साहित हूं। लोगों को सुरक्षा खतरों के बारे में अधिक जागरूक करने और भारत को सुरक्षित बनाने के लिए अपनी व्यक्तिगत सुरक्षा में सुधार करने के तरीकों से अवगत कराने की आवश्यकता है।”

52 स्थानों के गेटेड कम्यूनिटीज में सुरक्षा बूथ स्थापित किए जाएंगे, जिससे निवासियों को वहाँ रूककर सुरक्षा उपायों को बेहतर बनाने संबंधी परामर्श प्राप्त करने और घर से दूर होने पर घर को सुरक्षित रखने हेतु सलाह प्राप्त करने में मदद मिलेगी। बूथ पर पंजीकृत निवासियों को निःशुल्क घर सुरक्षा जांच प्रदान करने पर जोर दिया गया है। बूथ पर सेफ्टी एक्सपर्ट की नियुक्ति करके, कंपनी लोगों को उनके घर की सुरक्षा के महत्व के बारे में जानकारी देना चाहती है।

एडवांस्ड डिजिटल लॉक्स के आधुनिक समाधान, गोदरेज लॉक्स लोगों को आजादी के साथ खुलकर जीने का आश्वासन प्रदान करके उनके मन को अधिक सुकून पहुँचाते हैं, जबकि ताले उनकी अनुपस्थिति में घर की सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं। गोदरेज लॉक्स, ‘गो लीव फ्रीली’ की विचारधारा का दृढ़ता से समर्थन करता है और यह घर की सुरक्षा के संबंध में अग्रणी सोच एवं विश्वास को भी प्रदर्शित करता है।-अनिल बेदाग

About Samar Saleel

Check Also

15 से 20 द‍िसंबर के बीच 13वीं क‍िस्‍त की तारीख, पीएम क‍िसान के ल‍िए ऐसे कराएं रज‍िस्‍ट्रेशन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें पीएम क‍िसान सम्‍मान न‍िध‍ि केंद्र सरकार की महत्‍वाकांक्षी ...