Breaking News

जीएसटी लागू होने से होगा देश का नुकसान: कांग्रेस

लखनऊ. पूर्ववर्ती केन्द्र की यूपीए सरकार द्वारा वर्ष 2011 में जीएसटी अधिकतम 14 प्रतिशत की दर से लागू की जा रही थी। उस समय गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री एवं वर्तमान में देश के प्रधानमंत्री द्वारा जबर्दस्त विरोध किया गया जबकि आज वही जीएसटी 28 प्रतिशत की दर से लागू करके संसद में जश्न मनाया जा रहा है।

इससे भारतीय जनता पार्टी के तानाशाही रवैये और जनविरोधी नीति का पर्दाफाश हो गया है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता कृष्णकान्त पाण्डेय ने कहा कि आजादी मिलने से अब तक तीन बार आधी रात को जश्न मनाया गया है। जिसमें पहली बार जिस दिन आजादी मिली। दूसरी बार आजादी के पच्चीस वर्ष एवं तीसरी बार पचास वर्ष पूरा होने पर। जीएसटी लागू करने के लिए आधी रात को जश्न मनाना आजादी मिलने के जश्न का अपमान है। केन्द्र की मोदी सरकार को शायद यह आभास नहीं है कि यह आजादी कितने त्याग, बलिदान एवं संघर्ष से मिली हैए उसकी तुलना जीएसटी से करने की कंाग्रेस पार्टी घोर विरोध करती है।

Loading...

उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासनकाल में जीएसटी 14 प्रतिशत अधिकतम दर पर लागू किया जा रहा था वहीं पर वर्तमान मोदी सरकार द्वारा अधिकतम कर सीमा 28 प्रतिशत करने से जहां सभी वर्गों को घोर आर्थिक कठिनाई होगी वहीं पर केवल सरकार अपनी आय बढ़ाने के लिए आम जनता के हितों पर कुठाराघात करने में जरा भी संकोच नहीं कर रही है। जीएसटी की अधिकतम सीमा 14 प्रतिशत से ज्यादा नहीं होनी चाहिए थी। जहां यूपीए सरकार की मंशा जीएसटी लागू करके पूरे देश से इंस्पेक्टर राज समाप्त करना था वहीं पर आज एनडीए की केन्द्र सरकार ने इस प्रक्रिया को इतना जटिल बना दिया कि इंस्पेक्टर राज को और अधिक बढ़ावा मिलेगा जिससे मध्यम वर्ग के व्यापारी, किसान, आम जनता सभी पीड़ित होंगे। उन्होंने कहा कि जिस तरह से बिना तैयारी के देश में नोटबन्दी लागू की गयी उसी तरह बिना तैयारी के जीएसटी लागू की जा रही है। जिसका नुकसान नोटबन्दी की तरह पूरे देश को भुगतना पड़ेगा। ऐसा लग रहा है कि यह सरकार इतनी जल्दी में है कि बिना पटरी बिछाये बुलेट ट्रेन भी चला देगी।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

एक और हादसा: दुष्कर्म पीड़िता पर फेंका तेजाब,30 प्रतिशत झुलसी

लखनऊ। प्रदेश में एक बार फिर महिला हिंसा की एक और वारदात सामने आई है ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *