Breaking News

केदारनाथ में जोरदार बर्फबारी, तीर्थयात्रियों से खास अपील, जानिए फटाफट

केदारनाथ (Kedarnath) में रविवार को ताजा बर्फबारी हुई। पुलिस ने मंदिर आने वाले तीर्थयात्रियों से अपील की है कि वे मौसम के पूर्वानुमान को देखते हुए अपनी यात्रा की योजना बनाएं।

आंबेडकर ने क्यों कहा था “आरक्षण बैसाखी नहीं सहारा है”

पुलिस ने श्रद्धालुओं से छाता, रेनकोट और जरूरी दवाएं भी साथ रखने की भी सलाह दी है। पुलिस अधीक्षक (रुद्रप्रयाग) विशाखा अशोक भडाने ने केदारनाथ से एक क्लिप जारी की। इसमें मंदिर पर बर्फ गिरती नजर आ रही है। उन्होंने इस वीडियो संदेश में श्रद्धालुओं से मौसम की जानकारी लेने के बाद ही यात्रा की योजना बनाने की गुजारिश की।

केदारनाथ Kedarnath

मौसम विभाग की मानें तो एक पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर पर एक ट्रफ के रूप में मौजूद है। यही नहीं उत्तरी राजस्थान पर भी एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। साथ ही पूर्वी यूपी पर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बना हुआ है।

मौसम का पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी एजेंसी स्काईमेट वेदर की रिपोर्ट के मुताबिक, अगले 24 घंटों के दौरान पश्चिमी हिमालय पर हल्की से मध्यम बारिश देखी जा सकती है। यही नहीं पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र के अलग-अलग जगहों पर बर्फबारी का पूर्वानुमान भी जताया गया है। हालांकि इसका असर मैदानी इलाकों पर नहीं देखा जा रहा है।

गौर करने वाली बात यह कि मई के महीने में केदारनाथ और बद्रीनाथ में लगातार हिमपात दर्ज किया गया है। मई महीने में केदारनाथ Kedarnath और बद्रीनाथ में इस तरह बर्फबारी का होना एक असामान्य घटना है।

हालांकि, यह बर्फबारी तीर्थयात्रियों के उत्साह को कम नहीं कर सकी। श्रद्धालुओं का मंदिर जाना जारी है। मालूम हो कि चार धाम यात्रा शुरू होने के बाद से एक महीने से भी कम समय में दोनों मंदिरों (केदारनाथ और बद्रीनाथ) में चार लाख से ज्यादा तीर्थयात्री पहुंचे हैं। केदारनाथ मंदिर 25 अप्रैल को और बद्रीनाथ 27 अप्रैल को श्रद्धालुओं के लिए खोला गया था।

About News Room lko

Check Also

टीएमयू में प्रेग्नेंट युवती की जटिल हार्ट सर्जरी

मुरादाबाद। प्रेग्नेंसी के दौरान हार्ट की सर्जरी करके तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद के डॉक्टर्स ने ...