मोदी का उत्सव अंदाज

डॉ दिलीप अग्निहोत्री
डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देश सेवा का अलग अंदाज है। उन्होंने समाज सेवा और सामाजिक सन्यास का समन्वय किया है। भारतीय चिंतन में इसकी भी परम्परा रही है। इस कठिन मार्ग का अनुसरण करने वाले अनेक शासक हुए है। इनकी मान्यता में परिवार सीमित इकाई नहीं है। इन्होंने सम्पूर्ण समाज व देश को अपना मानते हुए कर्तव्य निर्वाह किया है।

इस बार नरेंद्र मोदी ने लाइन ऑफ कंट्रोल पर स्थित नौशेरा में जवानों के साथ दीपोत्सव मनाया। दो वर्ष पहले भी नरेंद्र मोदी ने राजौरी के एक आर्मी डिवीजन में सैनिकों के साथ दिवाली मनाई थी। प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेन्द्र मोदी ने हर दिवाली सैनिकों के साथ ही मनाई है।

प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेन्द्र मोदी ने पहली दिवाली सियाचिन में तैनात जवानों के साथ मनायी थी। इसके बाद क्रमशः अमृतसर,हिमाचल प्रदेश में चीन सीमा,जम्मू कश्मीर के गुरेज उत्तराखंड के हर्षिल जम्मू कश्मीर के राजौरी और राजस्थान के लोंगेवाल में दिवाली मनाई थी। राजौरी में उन्होंने देश के जवानों को मां भारती का सुरक्षा कवच बताया।

कहा कि आप बदौलत ही हमारे देश के लोग रात को चैन से सो पाते हैं। त्योहारों पर खुशियां मना पाते हैं। यहां की हर चोटी से भारतीय सैनिकों के शौर्य का जय घोष सुनाई देता है। यहां हमारे वीर सैनिकों ने अपने रक्त और पराक्रम से गर्व की गाथाएं लिखी हैं।

इस बात की चर्चा है कि पांडवों ने भी अपने अज्ञातवाश का कुछ समय इसी क्षेत्र में व्यतीत किया था। भारत पहले हथियारों और अन्य सैन्य सामानों के लिए दूसरे देशों पर निर्भर था। अब आत्मनिर्भर भारत पर जोर है। रक्षा क्षेत्र से जुड़े दो सौ से ज्यादा सामान और उपकरण अब देश के भीतर ही खरीदे जायेंगे। आगे यह सूची और भी लंबी होने वाली है। डिफेंस कॉरिडोर निर्माण का भी दूरगामी लाभ होगा।

अब सैन्य स्कूलों में भी बेटियों को पढ़ाई का अवसर मिलेगा। भारत की सेना दुनिया की किसी भी सेना से अलग है। आपके मानवीय मूल्य और भारतीय संस्कार दूसरों से आपको अलग बनाते हैं। सेना में आना आपके लिए महज नौकरी नहीं है। बल्कि एक साधना है। आप मां भारती की साधना कर रहे हैं।

About Samar Saleel

Check Also

“कश्मीर में धारा 370 हटने के बाद वहां पर पर्यटन और निवेश बढ़ा है”: अमित शाह

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *