अब प्रत्येक वर्ष 11 मई को मनाया जायेगा तकनीकी दिवस

  • उ.प्र. शासन के वर्तमान संगत नियमो व शासनदेशों के अनुसार संस्थानों में रिक्त पदों को भरने की कार्यवाही के निर्देश

  • इंजीनियरिंग कालेजों में प्रशासकीय परिषदों का पुनगर्ठन किये जाने सम्बन्ध में सुझाव शासन को कराया जाय उपलब्ध

  • दीन दयाल उपाध्याय गुणवत्ता सुधार योजना में कराये गये कार्यों का इक्सटर्नल आडिट जिला स्तरीय गुणवत्ता टास्क फोर्स से स्थलीय सत्यापन कराया जाय

  • प्राविधिक शिक्षा विभाग के डिग्री सेक्टर में निर्माणाधीन कार्यों की वर्तमान स्थिति की ली गयी जानकारी

  • Published by-@MrAnshulGaurav
  • Friday, June 24, 2022

लखनऊ। प्रदेश के प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशीष पटेल ने सभी संस्थानों में रिक्त पदों को भरे जाने के सम्बन्ध में निर्देश दिये गये कि रोस्टर के सम्बन्ध में उ.प्र. शासन के वर्तमान संगत नियमो व शासनदेशों के अनुसार कार्यवाही की जाय। वर्ष में एक दिवस को तकनीकी दिवस के रूप में मनाये जाने सम्बन्धी पूर्व निर्देश पर यह निर्णय लिया गया कि प्रत्येक वर्ष 11 मई को तकनीकी दिवस के रूप मे मनाया जायेगा।

अब प्रत्येक वर्ष 11 मई को मनाया जायेगा तकनीकी दिवस

प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने प्राविधिक शिक्षा विभाग के क्रिया-कलापों के सम्बन्ध में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने इंजीनियरिंग कालेजों में प्रशासकीय परिषदों का पुनगर्ठन किये जाने सम्बन्ध में निर्देश दिये कि एकेटीयू लखनऊ, एमएमएमटीयू गोरखपुर एवं एचबीटीयू कानपुर के कुलपतिगण अपने-अपने विश्वविद्यालयों एवं राजकीय इंजीनियरिंग कालेजों के बायलॉज का गहन अध्ययन करते हुए संस्थान के हित में प्रशासनिक व्यवस्था मे एकरूपता के दृष्टिगत औचित्यपूर्ण एवं सुविचारित लिखित सुझाव शासन उपलब्ध करायें।

एकेटीयू लखनऊ, एमएमएमटीयू गोरखपुर एवं एचबीटीयू कानपुर तीनों प्राविधिक विश्वविद्यालयों के कुलपतिगण की विश्वविद्यालय व इंजीनियरिंग कालेजों में शैक्षिक स्टाफ व निदेशक की नियुक्ति प्रक्रिया को और पारदर्शी एवं बेहतर बनाने, टेक्निकल एजुकेशन एलूमनाई नेटवर्क की संरचना तैयार करने तथा चयन मे रोस्टर की व्यवस्था के क्रियान्वयन हेतु संयुक्त समिति बनाने के साथ-साथ फीस स्ट्रक्चर तथा कालेजों की सम्बद्धता की प्रक्रिया सुदृढ़, पारदर्शी, प्रभावी और उत्तरदायित्वपूर्ण बनाये जाने के विषय पर समितियां गठित कर दी गयी है। समितियों द्वारा अपनी औचित्यपूर्ण एवं विधिसंगत रिपोर्ट 30 जून 2022 तक शासन मे अवश्य उपलब्ध करा दी जाये।

दीन दयाल उपाध्याय गुणवत्ता सुधार योजना कार्यक्रम (डीडीयू-क्यूआईपी) परियोजना में कराये गये समस्त कार्यों का इक्सटर्नल आडिट जिला स्तरीय गुणवत्ता टास्क फोर्स से स्थलीय सत्यापन कराया जाय। साथ ही कुलसचिव व कुलपति एकेटीयू लखनऊ को निर्देश दिये गये कि परियोजनावार विस्तृत रिपोर्ट शासन को उपलब्ध करा दी जाय। प्राविधिक शिक्षा विभाग के डिग्री सेक्टर में निर्माणाधीन कार्यों की वर्तमान स्थिति से विभिन्न संस्थाओं द्वारा अवगत कराया गया। विशेष सचिव प्राविधिक शिक्षा विभाग कार्यदायी संस्थाओं के साथ बैठक कर कमियों का निस्तारण करे।

रिपोर्ट – दयाशंकर चौधरी

About reporter

Check Also

हर घर तिरेंगे के प्रचार के लिए लगे पोस्टरों से मुख्यमंत्री का फोटो काटा गया,एफआईआर दर्ज

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें फिरोजाबाद में असामाजिक तत्वों की शहर की फिजां ...