Breaking News

हर महीने महिलाओं के स्वास्थ्य के मुद्दों पर एक ‘इंटरैक्टिव सेशन’

हैरियट बीचर स्टोव द्वारा कहा गया है, ‘एक महिला का स्वास्थ्य उसकी पूंजी है’, जो एक महिला के जीवन में प्राथमिकताओं का वर्णन करने के लिए सबसे अच्छा है। और भाग्यश्री दासानी इस सलाह को पूरी लगन से फॉलो करती हैं। वह न केवल अपने और अपने परिवार के लिए स्वास्थ्य के प्रति जागरूक हैं, बल्कि वह नारी जगत को भी अपने दायरे में ले लेती हैं।

यूपी: सारस के दोस्‍त आरिफ की बढ़ीं मुश्किलें  दर्ज हुआ ये मुकदमा, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

“भारतीय महिलाएं आमतौर पर अपनी स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं को एक डिब्बे में बंद करके रखती हैं। अपने परिवार की देखभाल करने की भागदौड़ और रोज-रोज की भागदौड़ में उन्हें खुद की सबसे कम परवाह होती है। अंतिम परिणाम यह होता है कि वे या तो चुप रह के सहती रहती हैं या मेडिकल हेल्प के लिए तभी पहुंचती हैं जब स्वास्थ्य समस्या पूरी तरह से हाथ से निकल जाती है। ‘संवाद’ के इन इंटरैक्टिव सेशन का फोकस उन्हें शिक्षित करने के साथ-साथ विशेषज्ञों के साथ उनकी समस्या पर चर्चा करने के लिए एक आसान मंच प्रदान करना है,” भाग्यश्री कहती हैं।

‘संवाद’ महीने में एक बार नानावटी ऑडिटोरियम में होता है, जहां हर महीने महिलाओं से संबंधित एक स्वास्थ्य मुद्दे को उठाया जाएगा। विशेषज्ञों और डॉक्टरों का एक पैनल महिला स्वास्थ्य से जुड़े विषयों पर चर्चा करेगा। मौन में पीड़ित महिलाओं को शिक्षित करने और मार्गदर्शन करने के लिए कई अंडर-स्पोकन और अंडर-एक्सप्लेन किए गए स्वास्थ्य विषयों को लिया जाएगा।

भाग्यश्री दासानी

सेशन की होस्ट भाग्यश्री हैं और साल में कुल 12 सेशन होंगे जिनमें से एक सेशन पहले ही खत्म हो चुका होता है। भाग्यश्री ने नानावती मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल की सीईओ मंगला डेमला के साथ संवाद के लिए पार्टनरशिप की है। सबसे अच्छी बात यह है कि सत्र के दौरान एक विशेष पैनल के डॉक्टर पेशेवर सलाह और संबंधित उपचार के लिए कार्यक्रम के बाद भी पंजीकृत प्रतिभागियों के लिए उपलब्ध रहेंगे। इसके अतिरिक्त पंजीकृत प्रतिभागी उपचार के दौरान छूट की उम्मीद कर सकते हैं।

About Samar Saleel

Check Also

देश की प्रसिद्ध और ऐतिहासिक मस्जिद, जहां ईद-उल-अजहा के मौके पर जा सकते हैं आप

इस वर्ष 17 जून 2024 को ईद उल अजहा का पर्व मनाया जा रहा है। ...