Breaking News

48 स्कूलों को एक साथ बम से उड़ाने की धमकी, ई-मेल मिलते ही मची अफरा-तफरी

कर्नाटक की राजधानी बंगलुरु में उस वक्त दहशत फैल गई, जब 48 प्राइवेट स्कूलों एक साथ बम से उड़ाने की धमकी दी गई. ये धमकी 1 दिसंबर की सुबह ई-मेल के जरिए सभी स्कूलों को भेजी गई थी. इसमें लिखा था कि सभी स्कूलों के अंदर बम रखे गए हैं, जो एक साथ विस्फोट होंगे. ई-मेल मिलते ही स्कूल प्रशासन हरकत में आ गया. तुरंत पुलिस को सूचना दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्रों और स्कूल स्टॉफ को बाहर निकाला. बम डिफ्यूजल स्क्वॉड, डॉग स्क्वॉड और एंटी सैबोटाज टीम ने पूरे परिसर की तलाशी ली. इस दौरान बच्चों के अभिभावकों में अफरा-तफरी का माहौल दिखा. हर कोई आनन-फानन में स्कूल पहुंचने लगा.

बंगलुरु पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ”48 स्कूलों को एक ईमेल मिला है, जिसमें बम से उड़ाने की धमकी दी गई है. सभी स्कूलों को एक ही ईमेल आईडी से मेल किया गया है. ईमेल में दावा किया गया कि स्कूल परिसर में विस्फोटक लगाए गए हैं. हमें कमांड सेंटर से एक कॉल मिली और हमने तुरंत अपनी टीमों को उन स्कूलों में भेजा जो शहर के विभिन्न हिस्सों में स्थित हैं. सभी छात्रों और कर्मचारियों को स्कूल परिसर से सुरक्षित निकाल लिया गया. गहन तलाशी अभियान चलाया गया, जो कि लगभग खत्म हो चुका है. किसी भी स्कूल में कोई संदिग्ध वस्तु नहीं मिली है. प्रथम दृष्टया ये एक फर्जी संदेश प्रतीत होता है.

पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है. इस मामले की जांच चल रही है. बहुत जल्द आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. दूसरी तरफ जब छात्रों के अभिभावकों को ईमेल से मिली धमकी के बारे में पता चला तो वे पहले ही स्कूल पहुंच गए, ताकि बच्चों को सुरक्षित घर वापस लाया जा सके. पुलिस आयुक्त बी दयानंद ने कहा कि कुछ दिन पहले भी बंगलुरु के कुछ स्कूलों को धमकी भरे ईमेल मिले थे. इन सभी स्कूलों में बम डिफ्यूजल स्क्वॉड भेजे गए थे. उस वक्त भी ये धमकी एक अफवाह निकली थी. उन्होंने बताया, “इससे पहले भी इसी तरह के धमकी भरे पत्र और ईमेल स्कूलों में आए थे. उन्हें शरारत के लिए फर्जी पाया गया था. पुलिस ने इसके पीछे के लोगों की पहचान कर ली थी. मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे चिंता न करें, क्योंकि संभवत: ये सभी फर्जी कॉल (मेल) हैं.”

बम की धमकियां पाने वाले विभिन्न स्कूलों के छात्रों में से कुछ का कहना है कि आज से उनकी परीक्षाएं शुरू होने वाली है. बम धमाके संबंधित ईमेल आने के बाद उनकी परिक्षाएं स्थगित कर दी गई. कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि उन्होंने पुलिस से ई-मेल और उसके स्रोत की गंभीरता से जांच करने और एहतियात के तौर पर स्कूलों और मंदिरों को पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करने को कहा है. उन्होंने कहा, “मैंने पुलिस अधिकारियों से बात की है. उन्हें सभी स्थानों पर पर्याप्त सुरक्षा उपाय करने, सतर्क रहने और इसके पीछे के लोगों का पता लगाने का निर्देश दिया है. किसी को भी चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. मैंने सुरक्षा कड़ी करने को कहा है.”

About News Desk (P)

Check Also

अवध विवि में प्रधानमंत्री की पीएम उषा परियोजना का लाइव प्रसारण

• विवि में सुन्दर वातावरण से ही शिक्षा का परिवेश बनेगाः सांसद लल्लू सिंह • ...