Breaking News

लू से करे बचाव

गर्मियों में लू का खतरा सबसे अधिक होता है। तेज धुप में ज्यादा समय तक रहने से लू लगने का खतरा हो जाता है जबकि तापमान अधिक हो। ज्यादा तेज धुप में रहने के कारण शरीर का तापमान 104℉ (40℃) से अधिक हो जाता है, जिसे हम लू लगना कहते है। यह जानलेवा भी है अतः लू से बचकर रहने की कोशिश करनी चाहिये। यह मस्तिष्क, हृदय, गुर्दे, मांसपेशियों आदि को नुकसान पहुँचा सकता है। किसी भी उम्र के व्यक्ति को यह समस्या हो सकती है , वैसे व्यक्ति जो तेज धुप में काम करते हो या तेज धुप में कई दिनों तक रहते हो या जो तेज धुप में कसरत या शारिरिक परिश्रम करतें हों तथा गर्म तापमान में परेड या फुटबाल, हाँकी या अन्य खेल, तेज धुप में खेलते है वो लू की चपेट में आसानी से आ जाते हैं। लू का खतरा बढ़ जाता है। शरीर में पानी की कमी होने पर भी लू की तकलीफ हो सकती है। कई बार अचानक से गर्म वातावरण में आना भी खतरनाक हो जाता है।
लक्षण:-
-शरीर का तापमान 104℉ (40℃) से अधिक हो जाता है।
-चिड़चिड़ापन, कोमा ,बोलते समय लड़खड़ाना, चक्कर आना।
-तेज बूखार, मचली या उल्टी होना तथा पेट में दर्द।
-सांस तेजी से लेना और धड़कन बढ़ जाना।
-ऐठन और कमजोरी।
-सिर में असहनीय तेज दर्द होना,लू का प्रमुख लक्षण है।
कारण और जोखिम:-
वैसे व्यक्ति जो तेज धुप में काम करते हो या तेज धुप में कई दिनों तक रहने पर ,वैसे व्यक्ति जो तेज धुप में कसरत या शारिरिक परिश्रम करतें हों, शरीर में पानी की कमी होने पर भी लू का खतरा बढ़ जाता है।, गर्म तापमान में परेड या फुटबाल, हाँकी या अन्य खेल, तेज धुप में खेलने से, अचानक से गर्म वातावरण में आने से जल्द से जल्द ठंठे पानी या बर्फ वाले पानी से स्नान करे ताकि शरीर का तापमान कम हो, आइस पैक का
लू से करे बचाव;-
इस्तेमाल करें, छायादार जगह या वातुनिकुलित जगह पर जाऐं, गीले चादर का इस्तेमाल कर शरीर का तापमान कम करें, तरल पदार्थ का भरपुर सेवन करें जिससे शरीर से पसीने के रूप में बाहर हुए नमक और पानी की भरपाई हो सके, हल्के कपड़े पहने, ज्यादा जरूरी हो तभी सुबह 11 से शाम 4 बजे के बीच घर या आफिस से बाहर निकलें।
धूप में निकलते समय छाते, टोपी का प्रयोग जरूर करें,धूप में खड़ी कार में किसी को नहीं छोड़े क्योकि धूप में खड़ी कार में 10 मिनट में तापमान 20℉ (6.7℃) अधिक हो जाता है,धूप में ज्यादा शरीरिक श्रम ना करें।

होमियोपैथिक उपचार :-
होमियोपैथिक दवाओं के प्रयोग से लू पर काबु किया जा सकता हैं प्रमुख दवायें हैं: बेलाडोना,ग्लोनाइन,एकोनाइट,कैम्फर,थेरेडियन ,भेरेट्रम भी आदि।

 डा. प्रवीण पाठक
बी.एच.एम.एस.,एम.डी.

Mob-9450894547

[email protected]

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

देश में अब तक लगी 12.69 करोड़ वैक्सीन की डोज, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि सोमवार शाम ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *