Breaking News

बढ़ती हुयी मंहगाई के विरोध में रालोद ने राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन सौंपा

लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल द्वारा आज प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस आदि के साथ साथ रोजमर्रा की वस्तुओं की निरन्तर बढ़ती हुयी मंहगाई के विरोध में राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन सम्बन्धित जिलाधिकारियों के माध्यम से दिया गया। यह जानकारी राष्ट्रीय लोकदल के वरिष्ठ नेता सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी ने दी।

इस संबंध में जानकारी देते हुए श्री त्रिवेदी ने बताया कि राजधानी लखनऊ में भी महानगर अध्यक्ष चन्द्रकांत अवस्थी, तथा जिलाध्यक्ष रणविजय मौर्य की अगुवाई में रालोद नेताओं ने तीन सूत्रीय मांगों का ज्ञापन जिलाधिकारी को दिया। इस अवसर पर उनके साथ रमावती तिवारी, प्रीति श्रीवास्तव, प्रमोद पटेल, राजेश मौर्य, रामसेवक रावत, महेश पाल धनगर, रामनाथ यादव, चंद्रप्रकाश रावत, हरिकेष, मन्शाराम आदि लोग मौजूद रहे।

ज्ञापन में रालोद नेताओं ने कहा कि बढ़ती हुयी मंहगाई के कारण आम जनता की आर्थिक दशा दिनों दिन बदतर होती जा रही है। स्थिति यहां तक पहुंच गयी है कि मंहगाई विगत 17 महीने में शीर्ष स्तर पर पहुँच गयी है फिर भी केन्द्र सरकार पेट्रोल, डीजल और गैस की बढ़ती हुयी कीमतों पर कोई ध्यान नहीं दे रही है।
बाजार में घरेलू और रोजमर्रा की वस्तुओं की कीमते प्रतिदिन बढ़ रही हैं जिसका मुख्य कारण डीजल के मूल्यों में बढ़ोत्तरी है। आज प्रत्येक परिवार पर लगभग 5 हजार रूपये प्रतिमाह का अतिरिक्त बोझ परिवार के मुखिया पर पड़ रहा है जिसके फलस्वरूप परिवार का पालन पोषण बहुत कठिन हो गया है।

रालोद नेताओं ने ज्ञापन में मांग की कि पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने तथा मूल्यों को नियंत्रित करने के लिए केन्द्र सरकार को निर्देशित किया जाय, घरेलू गैस की कीमतें या तो 300 रूपये प्रति सिलिण्डर कम करने अथवा सब्सिडी पूर्व की भांति लागू करने के लिए निर्देश दिये जाएं, खुदरा बाजार में सरकारों द्वारा नियमित रूप से बाजार मूल्यों की जांच करायी जाए।

About Samar Saleel

Check Also

वरिष्ठ रेजिडेंट के रिक्त पदों पर यहाँ निकली भर्ती, जल्द करें आवेदन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें अखिल भारतीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान देवगढ़ ने वरिष्ठ ...