Breaking News

साक्षी हत्याकांड : पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दिल दहलाने वाला खुलासा, टूटी मिलीं 70 हड्डियां

दिल्ली के शाहबाद डेयरी इलाके में हुए साक्षी हत्याकांड (Sakshi Murder Case) की जांच कर रही पुलिस टीम को गुरुवार को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट भी मिल गई। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार, साक्षी के शरीर पर चाकू से 16 वार किए गए थे।

👉ओडिशा ट्रेन हादसे में मरने वालों की संख्या 237 के पार, 900 से ज्यादा लोग घायल

साक्षी हत्याकांड Sakshi Murder Case

इसके अलावा सिर सहित 70 हड्डियां भी टूट गई थीं। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट को जांच में शामिल कर लिया गया है। साहिल ने नशे की हालत में साक्षी के शरीर के ऊपर के हिस्से पर ताबड़तोड़ 16 वार किए थे। इसकी वजह से साक्षी की आंत आदि बाहर आ गई थीं।

वहीं पुलिस ने साहिल की निशानदेही पर हत्या के वक्त पहने जूते एवं चाकू आदि बरामद कर लिए हैं। पुलिस ने रोहिणी से चाकू बरामद किया है। इसे फॉरेंसिक लैब भेजा गया है ताकि खून के अंश निकाल कर साक्षी के माता-पिता के डीएनए से मिलाए जा सकें। पुलिस ने साहिल की बुआ के घर से जूते आदि बरामद कर लिए हैं।

👉लगातार बढ़ती जा रही ओडिशा में हुए ट्रेन हादसे में जान गंवाने वालों की संख्या, फटाफट पढ़े पूरी खबर

इस पूरे घटनाक्रम में इंस्टाग्राम एक अहम माध्यम बनकर सामने आया है। साक्षी इंस्टाग्राम के जरिए ही प्रवीण और साहिल समेत सभी अन्य लोगों से बात करती थी।

जांच में सामने आया है कि प्रवीण ने कुछ दिनों पहले साक्षी को मैसेज किया था। इसका स्क्रीन शाट साक्षी ने साहिल को भेज दिया था। माना जा रहा है कि इसके बाद हत्या की साजिश शुरू हो गई थी। पुलिस ने आठ फोन को कब्जे में लेकर फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि साहिल द्वारा बताई गई कहानी की जांच अब की जा रही है। साहिल और साक्षी के दोस्तों से पूछताछ की जा रही है। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज एवं साहिल के फोन के लोकेशन का भी मिलान कराया जा रहा है। घटना के वक्त साहिल के कुछ दोस्त इलाके में घूम रहे थे।

👉नोएडा में शुरू हुआ UP का पहला डॉग पार्क, मिलेगी ये सुविधा, जानकर चौक जाएँगे आप

इस हत्या से उन युवकों के संबंध की जांच की जा रही है। इसके लिए सभी युवकों की कॉल डिटेल्स एवं इंटरनेट खपत की जांच के लिए आईपीडीआर ली जा रही है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि जरूरत पड़ने पर रविवार को फिर से घटना का सीन रिक्रिएशन किया जा सकता है।

वहीं इस पूरे मामले में आरोप पत्र तैयार करने के लिए इंस्पेक्टर राजीव रंजन की टीम बनाई गई है। यह टीम तकनीकी एवं मेडिकल पहलुओं के आधार पर मजबूत आरोप पत्र बना रही है।

About News Room lko

Check Also

पहली तिमाही में इंफोसिस का मुनाफा 7.1% बढ़कर 6,368 करोड़ रुपये पर पहुंचा, नतीजे जारी

इंफोसिस ने गुरुवार को 30 जून 2024 को समाप्त तिमाही में ₹6,368 करोड़ के समेकित ...