Breaking News

Hanuman Jayanti : दिनविशेष पर जाने हनुमान जी के कुछ खास मंदिर

आज पुरे भारतवर्ष या यूँ कहें की हर जगह, चाहे वो भारत के अंदर हो या बाहर विदेशों में हो ,सम्पूर्ण जगह Hanuman Jayanti बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है। सुबह से ही हनुमान मंदिरों के सामने भक्तों का ताता लगा है।

Hanuman Jayanti पर देश के सुप्रसिद्ध हनुमान मंदिर

देश भर में हनुमान मंदिर के सामने श्रीराम भक्तो का हनुमान मंदिर पर दर्शन का क्रम चल रहा है। लोग सुबह से ही लाइनों में लगे हुए अपनी बारी आने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। ऐसे में इस पावन दिन हम बताते हैं देश के कुछ ऐसे हनुमान मंदिरो की जहाँ दर्शन मात्र से ही आपको एक अलग ही आशीर्वाद की अनुभूति होगी।

हनुमानगढ़ी मंद‍िर

बात हनुमान की हो तो अयोध्या के हनुमानगढ़ी का नाम सबसे पहले आता है। शायद इसकी एक वजह ये भी है की यह हनुमान के भी इष्ट एवं मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की नगरी है। यहाँ भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था। यह मंदिर राजद्वार के सामने ऊंचे टीले पर स्थित है जिसपर 60 सीढिय़ां चढ़ने के बाद दर्शन हो पाते हैं।

श्री संकटमोचन मंदिर

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में श्री संकट मोचन हनुमान मंद‍िर है। हनुमानजी की यह मूर्ति को लेकर मान्‍यता है क‍ि गोस्वामी तुलसीदासजी के तप एवं पुण्य से प्रकट हुई स्वयंभू मूर्ति है। इस मंदिर के समीप ही भगवान श्रीनृसिंह का मंदिर भी स्थापित है।

लेटे हुए हनुमान जी

संगम नगरी इलाहाबाद में किले से सटा संगम के समीप एक प्राचीन हनुमान मंद‍िर है। यहां हर दिन भक्तों की लम्बी कतार लगी होती है। इस मंद‍िर में हनुमान जी एक 20 फीट लम्बी प्रतिमा हनुमान लेते हुए मुद्रा में हैं।

Loading...
हनुमान धारा

यह पवित्र मंदिर उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में स्थित है। यहां पहाड़ के सहारे हनुमानजी की एक विशाल मूर्ति के ठीक सिर के पास दो जल के कुंड हैं ज‍िनमें हमेशा ही जल की धारा बहती रहती है। हनुमानजी को स्पर्श करते हुई जलधार को हनुमान धारा कहते हैं।

उलटे हनुमान जी

हनुमान जी उलटे हनुमान जी के नाम से यहाँ इसलिए जाने जाते हैं क्योकि यहां पर हनुमान जी की उलटे मुंह वाली सिंदूर से सजी प्रत‍िमा स्‍थापि‍त है। यह मंद‍िर उज्जैन से केवल 30 किमी दूरी पर स्थित है।

श्री पंचमुख आंजनेयर हनुमान

तमिलनाडु के कुम्बकोनम में श्री पंचमुखी आंजनेयर स्वामी जी का मठ है। यहां पर श्री हनुमान जी के ‘पंचमुख रूप’ के दर्शन क‍िए जा सकते हैं। मान्‍यता है कि‍ इस रूप को हनुमान जी ने अहिरावण और महिरावण के वध के ल‍िए धारण कि‍या था।

सालासर बालाजी

हनुमान जी के पवित्र सुप्रसिद्ध मंदिरों में सालासर हनुमानजी का मंदिर भी शाम‍िल है। यहां पर हनुमानजी की यह प्रतिमा बेहद अनोखी है जो कि राजस्थान के चुरू जिले में है। सालासर बालाजी दाड़ी व मूंछ से सुशोभित हैं। यहां पर दूर-दूर से लोग दर्शन के ल‍िए आते हैं।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

राशिफल: आज इन राशियों पर मेहरबान रहेगी किस्मत, शासन सत्ता का सहयोग रहेगा

मेष: स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है। आर्थिक मामलों में जोखिम न उठाएं। ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *