Breaking News

वाणी अमृत व जहर से मिलकर बनी है मानव अमृत स्वीकार करे या जहर यह उस पर निर्भर- भगवताचार्य

औरैया। नव निर्माण सेवा समिति रावतपुर के तत्वाधान में प्राथमिक विद्यालय के समीप आयोजित श्रीमद् भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ में दूसरे दिन अलियापुर कानपुर नगर के भागवताचार्य पंडित शंकर दयाल पांडे महाराज ने कथा प्रवचन किया। सृष्टी की रचना प्रसंग का मार्मिक वर्णन करते हुए उन्होंने कहा कि विदुर महाराज घर छोड़कर वृंदावन आए और उद्धव से उनकी भेंट हुई। उन्होंने कहा कि हरिद्वार में मैत्रेय आपका इंतजार कर रहे हैं।

वाणी अमृत व जहर से मिलकर बनी है मानव अमृत स्वीकार करे या जहर यह उस पर निर्भर- भगवताचार्य

विदुर ने मैत्रेय से सृष्टि की उत्पत्ति के बारे में पूछा तो मैत्रेय जी ने बताया कि नारायण की नाभि से कमल और कमल से ब्रह्मा जी प्रकट हुए और ब्रह्मा जी ने सृष्टि की रचना की। भगवताचार्य श्री पांडे ने कहा कि परमात्मा महात्मा पति व गुरु के प्रति सदैव श्रद्धा रखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वाणी अमृत और जहर से मिलकर बनी है और यह मानव के ऊपर निर्भर है कि वह अमृत स्वीकार करता है या जहर।

भागवताचार्य श्री पांडे ने कहा कि श्रीमद् भागवत कथा मानव को जीवन जीने की कला सिखाती हैं वही सुसंस्कार मानव का जीवन सफल बना देते हैं। धुंधकारी और अजामिल जैसे पापियों को सिर्फ नारायण का ध्यान करने से ही मोक्ष की प्राप्ति हुई है इसलिए अपने कल्याण के लिए मनुष्य को ईश्वर को कभी नहीं भूलना चाहिए।

कथा के विश्राम पर आरती के बाद प्रसाद वितरित किया गया। इस मौके पर कार्यक्रम आयोजन समिति के डॉ अवधेश सेंगर सौरभ राजावत लल्ला सेंगर गोलू त्रिपाठी नरेंद्र त्रिपाठी लाखन सिंह सेंगर रोहित सेंगर रिशु सेंगर दीपक राजावत नैंसी राजावत शिवम सेंगर अंशुल दुबे शिवम राजावत अशोक सेंगर प्रहलाद सिंह आदि प्रमुख रूप से शामिल थे।

About reporter

Check Also

सीएमओ की सीधी निगरानी में होगा आजमगढ़ और रामपुर

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Tuesday, June 28, 2022 आजमगढ़। रामपुर की ...